मामा के लिए नाबालिग भांजी ने पड़ोसी को वो सौंप दिया, जो कोई और न देता

0
76

राजस्थान के सीकर शहर में ननिहाल में रह रही 12 वीं कक्षा की नाबालिग छात्रा से बलात्कार किए जाने का मामला सामने आया है। मामा को जान से मारने की धमकी देकर बलात्कार किया। मामले की जानकारी परिजनों को लगने पर कोतवाली थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है। पुलिस ने नाबालिग के कोर्ट में 164 के बयान भी दर्ज करा लिए है। तीन दिन बाद भी आरोपी युवक को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। नेहरू पार्क निवासी वृद्धा ने बताया कि उसकी 17 साल की दोहिती साथ में ही रहती है।

वह पास के ही स्कूल में 12वीं कक्षा में पढ़ती है। उसके पिता की मौत के बाद से वह बचपन से ही ननिहाल में ही रहती है। उन्होंने बताया कि पडोस में रहने वाला इरशाद उसकी दोहिती को काफी समय से परेशान कर रहा था। सुबह स्कूल से आते-जाते समय उसका पीछा करता था। उसे रास्ते में रोक कर छेड़छाड़ करता था। उन्होंने बताया कि इरशाद घर में घुस आया। इस दौरान घर पर कोई नहीं था। इरशाद ने उसके मामा को जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद जबरन बलात्कार किया। वह काफी डर गई। उसने डर से किसी को कुछ नहीं बताया। इसके बाद वह बार-बार घर आकर बलात्कार करने लगा।

परिजनों ने युवती की सगाई करने के लिए दिल्ली में एक रिश्ता देखा था। इस बात का पता इरशाद को लग गया। इरशाद ने फोन कर दिल्ली वालों को छात्रा से शादी करने पर बुरे परिणाम की धमकी दी। इसके बाद उन लोगों ने युवती के परिजनों को फोन कर पूरी जानकारी दी और रिश्ता भी तोड़ दिया। परिजनों ने छात्रा से इरशाद के बारे में पूछा तो छात्रा ने पूरी बात परिजनों को बताई। इसके बाद परिजनों ने कोतवाली थाने में मुकदमा दर्ज कराया।

पुलिस ने मुकदमा दर्ज होने के बाद नाबालिग छात्रा के कोर्ट में बयान भी दर्ज कराए है। छात्रा ने युवक के खिलाफ बलात्कार करने व परेशान किए जाने की बात कहीं है। छात्रा की नानी ने बताया कि पुलिस ने अभी तक इरशाद को गिरफ्तार नहीं किया है। वह पड़ोस में रहता है। डऱ के कारण परिजनों ने उसे बाहर भेज दिया। उन्होंने बताया कि उसका बेटा बीमार है और चलने-फिरने में भी सक्षम नहीं है। वह खुद बैग बनाकर बाजार में बेचती है।