देशराजनीति

क्या यूपी में गठबंधन से अलग होंगे योगी सरकार के मंत्री राजभर!

एनडीए को लगेगा एक और झटका, यूपी में गठबंधन से अलग होंगे ओम प्रकाश राजभर!

लखनऊ भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) गठबंधन के सहयोगी दल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी(सुभासपा) ने धमकी दी है कि यदि भाजपा ने 24 फरवरी तक सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट लागू नही हुई तो पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव में पार्टी राज्य की सभी सीटों पर अपने पत्याशियों को खड़ा करेंगी। बताते चले   लोकसभा चुनाव 2019 (Lok  से पहले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन   का एक और झटका लग सकता है.

दरअसल, उत्तर प्रदेश  में एनडीए की सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी गठबंधन से अलग होने का ऐलान कर सकती है. सुभासपा के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर  ने बीजेपी  को दो-मुहां सांप करार देते हुए सोमवार को कहा था कि पिछड़े वर्ग के आरक्षण में वर्गीकरण की उनकी मांग को अगर अमलीजामा नहीं पहनाया गया तो वह गठबंधन से अलग हो जाएंगे. उन्होंने कहा था कि बीजेपी से गठबंधन टूटने पर कांग्रेस (Congress) से गठबंधन का विकल्प खुला हुआ है.

ओम प्रकाश राजभर ने पिछड़े वर्ग के आरक्षण में वर्गीकरण को लेकर बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा था कि बीजेपी सरकार अगर सवर्णों को आर्थिक आधार पर आरक्षण के मसले पर एक सप्ताह के अंदर कानून बना सकती है तो फिर वह पिछड़े वर्ग के आरक्षण के मसले पर मौन क्यों है.उन्होंने बीजेपी को पिछड़ा वर्ग विरोधी करार दिया था. ओम प्रकाश राजभर फिलहाल ‘वेट एंड वॉच’ की रणनीति अपनाए हुए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, राजभर एनडीए से अलग होने पर 25 जनवरी को बड़ा फैसला कर सकते हैं.

ओमप्रकाश राजभर से कांग्रेस के अलावा समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने भी संपर्क साधा है. सूत्रों के मुताबिक, बीएसपी के एक प्रभावी विधायक ने राजभर से मुलाकात की है. वहीं, समाजवादी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने भी राजभर से संपर्क साधा है. हालांकि राजभर फिलहाल नफा-नुकसान का अंदाजा लगा रहे हैं और गठबंधन पर 25 जनवरी तक कोई फैसला ले सकते हैं.

 

Back to top button