अमित शाह का कर्नाटक मिशन, साल के आखिरी दिन चुनावी रणनीति पर चर्चा

गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों में प्रचंड जीत के बाद बीजेपी की नजर अब 2018 में कर्नाटक में होने वाले विधानसभा चुनाव पर है. कर्नाटक फतह करने में जुटी बीजेपी यहां पिछले विधानसभा चुनाव की गलती दोहराना नहीं चाहती है. ऐसे में जीत सुनिश्चित करने के लिए बीजेपी ने खास प्लान तैयार किया है. इसी प्लान के तहत भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह रविवार को कर्नाटक जाएंगे. वह विधानसभा चुनाव के आसन्न राज्य में पार्टी की चुनावी तैयारियों का जायजा लेंगे. इस दौरान वह पार्टी सांसदों, विधायकों और पदाधिकारियों से भी बातचीत करेंगे.

अमित शाह मिशन कर्नाटक

अमित शाह रविवार सुबह बेंगलुरू पहुंचेगे, जहां करीब 11.30 बजे बीजेपी के सभी सांसदों और विधायकों से वह मुलाकात करेंगे. शाह की यह बैठक रॉयल ऑर्चिड रेसॉट में होगी. बीजेपी अध्यक्ष उन सभी नेताओं से भी मुलाकात करेंगे जो पार्टी के अंदर गुटबाजी को हवा दे रहे हैं या फिर मुख्यमंत्री उम्मीदवार बीएस येद्दयुरप्पा को कमजोर करने के लिए पार्टी के हितों से समझौता कर रहे हैं.

Advertisement

बता दें कि कर्नाटक में अगले साल मई में चुनाव हो सकते हैं. ऐसे में बीजेपी के पास तैयारी के लिए पांच महीने ही बचे हैं. बीजेपी ने अभी से ही चुनावी रणनीति और तैयारियां शुरू कर दी है. चर्चा है कि बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व भूपेंद्र यादव को कर्नाटक में चुनावी प्रभारी के तौर पर कमान सौंप सकते हैं. क्योंकि भूपेंद्र यादव पहले ही राजस्थान और बिहार में बीजेपी के लिए चुनावी प्रभारी की सफल भूमिका निभा चुके हैं.

advt

 

भूपेंद्र यादव के नेतृत्व में बनेगी कमेठी

सूत्रों के अनुसार बीजेपी नेतृत्व ने मौजूदा कोर कमिटी को बदलकर भूपेंद्र यादव के नेतृत्व में नया इलेक्शन कमिटी बनाने का फैसला कर लिया है. यह टीम पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से संपर्क कर चुनावी रणनीति बनाएगी. इसमें राज्य स्तर के नेताओं का कोई खास रोल नहीं होगा, बस वे कमिटी का आदेश मानने को बाध्य होंगे.

पीएम मोदी करेंगे करीब 40 रैलियां!

जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर्नाटक चुनाव के दौरान 30 से 40 रैलियां कर सकते हैं. इसमें से अधिकतर रैलियां छोटे शहरों में होंगी, जिससे गरीबों को अधिक से अधिक बीजेपी से जोड़ा जा सके.