क्यों बोले मोदी- योगी के कपड़ों पर लोगों का भ्रम आज टूट गया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को नोएडा में दिल्ली मेट्रो की मेजेंटा लाइन का उद्घाटन किया. पीएम ने नोएडा में एमिटी यूनिवर्सिटी में रैली को भी संबोधित किया. अपने संबोधन में मोदी ने यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ की.

उन्होंने योगी को नोएडा आने के लिए बधाई दी. मोदी ने योगी की तारीफ में कहा कि उन्होंने नोएडा को लेकर जो भ्रम बनाए गए थे, उन्हें तोड़ दिया है. मोदी ने योगी की तारीफ में कसीदे पढ़ते हुए कहा कि आज योगी जी ने नोएडा के साथ जो टीका लगा उसे अपने बल बूते हटा दिया.

नोएडा आने पर योगी को मुबारक

पीएम मोदी ने यूपी के किसी सीएम के नोएडा आने से जुड़े मिथक पर भी टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि योगी जी मुख्यमंत्री के रूप में सूबे में बहुत ही उत्तम तरीके से विकास की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं, लेकिन उनके कपड़े देखकर ये भ्रम फैलाया जाता है कि वे आधुनिक सोच के हो ही नहीं सकते. लेकिन मुझे खुशी है कि जिस नोएडा में किसी सीएम के न आने की छवि बन गई थी, उस मिथक को योगी जी ने बिना बोले अपने आचरण से गलत साबित कर दिया है. इसके लिए मैं योगी जी को बधाई देता हूं.

जिसे कुर्सी जाने का डर, उसे सीएम बनने का हक नहीं

मोदी ने ये भी कहा कि अगर किसी को कुर्सी जाने का डर है तो उन्हें मुख्यमंत्री बनने का अधिकार नहीं है. पीएम ने इससे आगे ये भी कहा कि मान्यताओं में कैद कोई भी समाज तरक्की नहीं कर सकता है. उन्होंने अपना भी उदाहरण दिया. पीएम ने बताया कि जब मैं गुजरात का सीएम था, तो मुझे भी कई जगहों पर जाने से मना किया गया. मोदी ने कहा कि मैं सारी बातों को नकारते हुए बतौर गुजरात सीएम हर उस जगह गया जहां कोई नहीं जाता था और मुख्यमंत्री के तौर पर सबसे ज्यादा सेवा करने का मौका मुझे मिला.

कपड़े देखकर फैलाया जा रहा है भ्रम

रैली में पीएम मोदी बोले कि योगी जी के कपड़े देखकर ये भ्रम फैलाया जाता है कि वे आधुनिक सोच के नहीं हो सकते हैं, सिर्फ मान्यताओं में बंधे हुए सिर्फ पुराण पोथी वाले होंगे. नोएडा को लेकर ऐसी छवि बनाई गई थी कि यहां कोई सीएम नहीं आ सकता, अगर आएगा तो उसकी कुर्सी चली जाएगी. लेकिन योगी जी ने बिना बोले ही इस आचरण को खत्म कर दिया है.

उन्होंने जिक्र किया कि एक सीएम हैं, जिन्होंने अपनी कार के रंग के कारण उसपर नींबू, बिंदी लगाना शुरू कर दिया था. ऐसे लोग देश को किस तरह आगे ले जाएंगे.

जहां कोई नहीं गया वहां मैं गया

पीएम ने बताया कि जब वे गुजरात के सीएम बने तो उन्हें भी ऐसी 6-7 जगहों के नाम बताए गए जहां जाने पर कुर्सी जाने का खतरा था. लेकिन मैं शुरूआती एक साल में ही वहां पर गया जहां तीन दशक से कोई नहीं गया था. मैं हर जगह गया, शान से गया और सबसे लंबे समय तक गुजरात का सीएम रहा.

ऐसा है नोएडा का इतिहास

गौरतलब है कि यूपी की सियासी जमात के बीच अनकही मान्यता है कि मुख्यमंत्री रहते हुए जो भी शख्स नोएडा पहुंचेगा, उसकी सत्ता छिन जाएगी. अपशगुन का ये चक्रव्यूह इतना खतरनाक माना जाता है कि 19 सालों में सिर्फ मायावती ने ही बतौर सीएम नोएडा का दौरा किया था. अब मौजूदा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मिथक को तोड़ दिया है.

पिछली सरकार के मुखिया अखिलेश यादव 5 साल में एक बार भी नोएडा कदम रखने की हिम्मत नहीं जुटा पाए. नोएडा से जुड़ी कई योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास अखिलेश ने लखनऊ बैठे-बैठे ही कर डाला.