जरा हट के

शादी कार्ड पर मुस्लिम परिवार ने छपवाई थी राम-सीता की तस्वीर, काजी निकाह पढ़ाने को तैयार नहीं

यूपी के शाहजहांपुर जिले से ये खबर है. यहां के अलाह्गंज के गाँव चिलौआ में एक मुस्लिम परिवार अपनी बेटी की शादी रखे हुए था. बेटी का नाम रुखसार बानो है. बेटी की शादी में इस परिवार ने अपने हिन्दू भाइयों के लिए कार्ड पर राम-सीता की तस्वीर छपवाई थी. पर इन्हें पता नही था की ऐसा करना उनपर बहुत भारी पड़ने वाला है.

खबर मिली है की काजी ने इनकी बेटी को निकाह पढाने से मना कर दिया है. काजी की लाख मिन्नते करने के बाद भी इस परिवार को काजी निकाह पढवाने के लिए राजी नहीं हुआ है. काजी का कहना है की उन्होंने घोर पाप किया है.

काजी ने कहा है की शादी के कार्ड पर अल्लाह का नाम ना लिखवाकर और राम-सीता की तस्वीर छपवाकर इस परिवार ने बहुत बड़ी गलती की है. ऐसे में उन्हें आला हजरत जाकर लिखित में माफ़ी मांगनी पड़ेगी. यदि वो ऐसा नहीं करते हैं तो कोई भी काजी उनकी बेटी का निकाह नहीं पढाने नहीं आएगा.

कोई भी काजी यहाँ इनकी बेटी को निकाह पढवाने के लिए राजी नहीं है. सुनने में आ रहा है की इस परिवार को बार बार दबाया जा रहा है और डराया जा रहा है. इस परिवार का कहना है की हमें कहा जा रहा है की उन्होंने बहुत बड़ा पाप किया है.

परिवार का कहना है की यह हमारा निजी मामला था और हमने हमारे हिन्दू भाइयों के लिए ऐसा कार्ड छपवाया था. पर हमें मालूम नहीं था की हमारा ही समाज हमारे खिलाफ हो जाएगा. दरअसल इस गाँव में सिर्फ मुस्लिम समाज का एक घर है और बाकी सब हिन्दू है.

ऐसे में गाँव के हिन्दू भाइयों के लिए उन्होंने ऐसा कार्ड छपवाया था. अब कार्ड बाँट दिए गये है और शादी बहुत नजदीक आ गई है ऐसे में निकाह पढने से सभी काजियों ने इनकार कर दिया है. ऐसे में इस परिवार के लिए सबसे बड़ी मुश्किल यह है की अब वो अपनी बेटी की शादी कैसे करेंगे.

 

Back to top button