क्राइम

‘उल्टी’ का सौदा करोड़ों में करने जा रहा था बंदा, पुलिस ने यूं धर लिया !

व्हेल मछली की उल्टी

मुंबई में व्हेल मछली की उल्टी बेचने आए एक व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। यह व्यक्ति 1.3 किलो व्हेल की उल्टी बेचने के फिराक में घर से निकला था, जिसकी कीमत 1.75 करोड़ रुपए है। पुलिस और वन विभाग ने विद्याविहार के कामा लेन से राहुल दुपारे नामक शख्स को गिरफ्तार किया है। दुपारे के खिलाफ वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। व्हेल मछली की उल्टी को एंबरग्रीस कहा जाता है, जिसकी खरीद-बिक्री की मनाही है।

ff1i6u2

जानकारी के लिए बताते चले एंबरग्रीस कहलाने वाली ये व्हेल मछली की उल्टी कीमती वैक्स होती है, जो स्पर्म व्हेल की आंतों से रिसने वाले पदार्थ से बनी होती है। यह आमतौर पर उष्णकटिबंधीय समुद्रों में मिलती है। इसका इस्तेमाल परफ्यूम बनाने में किया जाता है. व्हेल मछलियों की यह उल्टी करोड़ों में बिकती है। इसको ध्यान में रखते हुए कई देशों में व्हेल के शिकार पर प्रतिबंध है, लेकिन इनकी स्मगलिंग जारी है।

जानकारी के लिए बताते चले व्हेल मछली की उल्टी सफेद वैक्स जैसी दिखती है, जो सूखने पर पावडर जैसी हो जाती है। इसे बाद में गर्म कर या पिघला कर तेल में बदला जाता है। अमूमन एक व्हेल मछली के पेट में करीब 80 से 100 किलो एंबरग्रीस जमा होता है। जब कभी भी व्हेल के पेट में एंबरग्रीस की मात्रा बढ़ जाती है, तब यह उल्टी के रूप में बाहर आ जाती है। एंबरग्रीस शराब, क्लोरोफॉर्म, ईथर और कुछ तेलों में घुलनशील है।

Back to top button