अस्पताल में मुख्‍तार, बाहर पुलिस का पहरा, हर करीबी पर क्यों STF की नजर

मंगलवार को बांदा जेल में बंद बाहुबली नेता मुख्‍तार अंसारी और उनकी पत्‍नी को दिल का दौरा पड़ गया. जिसके बाद उनको ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया. लेक‌िन हालत में कोई सुधार नहीं होने के बाद दोनों को लखनऊ रेफर कर द‌िया गया, जहां उनकी हालत स्थिर बताई गई है. लेकिन शहर का सूचना तंत्र तेज़ कर दिया गया है और हर आने-जाने वाले पर नज़र है. जिसपर भी ज़रा सा शक हो रहा, उससे पूछताछ की जा रही है. शहर के होटलों, लॉज और मुख़्तार के करीबियों को भी रडार पर रखा गया है.

एटीएस और एसटीएफ पूरी तरह सतर्क

Advertisement

वहीं, मुख्तार अंसारी के लखनऊ शिफ्ट होते ही यूपी पुलिस और एसटीएफ भी एक्टिव हो गई हैं. माना जा रहा है कि मुख्तार से हॉस्पिटल में मिलने कई अपराधी आ सकते हैं. उन्हें पकड़ने के लिए यूपी पुलिस और एसटीएफ ने अपराधियों को पकड़ने के लिए टीम गठित की है.

advt

 

पुलिस में मिली जानकारी के अनुसार, उत्तर प्रदेश बिहार और बंगाल के कई अपराधी मुख़्तार की सेहत को लेकर लगातार संपर्क बनाए हुए हैं. सर्विलांस के ज़रिए भी पता चल रहा है की दुबई, मुम्बई और बैंकॉक से भी लोग लगातार फ़ोन पर मुख्‍तार अंसारी की सेहत के बारे में पता कर रहे हैं. इसी कड़ी में कई इनामी जिनकी पुलिस को तलाश है उनके शहर में आने की भी सूचना है.