देश

Video: छत्तीसगढ़ के बस्तर में जोरदार बरसात, देखिये खूबसूरत और ख़तरनाक नज़ारे

छत्तीसगढ़ के कई जिलों में तेज बारिश हो रही है है। बालोद बाजार के तिल्दा में लगातार बारिश से तीन मकान गिर गए। 4 महीने पहले ही करोड़ों की लागत से बने अंडर ब्रिज में पानी भर गया। तेज बारिश से छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।मंगलवार को सीएम भूपेश बघेल ने फोन पर चर्चा कर जगदलपुर के कमिश्नर खलखो से बाढ़ से निपटने के लिए सभी आवश्यक व्यवस्था करने को कहा है।

बालोद, धमतरी, गरियाबंद, कांकेर, कोंडागांव, बस्तर, नारायणपुर, बीजापुर, दंतेवाड़ा में रेड अलर्ट जारी किया गया है। एक दो स्थानों पर भारी से अतिभारी बारिश का पूर्वानुमान है। उधर रायगढ़, जांजगीर, बलौदाबाजार, रायपुर, दुर्ग, राजनांदगांव, बालोद, धमतरी, महासमुंद जिलों में यलो अलर्ट जारी किया गया। यहां पर एक-दो स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। राज्य के बाकी जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

छत्तीसगढ़ में बीते 24 घंटे में मूसलाधार बारिश हुई है। इससे बस्तर संभाग जलमग्न है तो सरगुजा, रायपुर और दुर्ग संभाग में भी अच्छी बारिश दर्ज हुई है। यह राहत की बारिश है, क्योंकि अभी तक किसान, सरकार और मौसम विभाग की निगाहें आसमान की ओर थीं कि कब मेहरबानी होगी। सोमवार को हुई बारिश से बस्तर में इंद्रावती खतरे के निशान से ऊपर बहने लगी है, पुराना पुल डूब गया है।

ओडिशा भी पानी छोड़ रहा है, जिससे राज्य के कई क्षेत्र डूब क्षेत्र घोषित कर दिए गए हैं। लोगों को विस्थापित किया जा रहा है। वहीं रायपुर में 40 मिनट में 36 मिमी बारिश हुई, जबकि कुल 40.6 मिमी बारिश हुई है, जो रिकॉर्ड है।
बस्तर संभाग के जगदलपुर जिले में 24 घंटे में इतनी अधिक बारिश रिकॉर्ड हुई। दरभा में 17.86, सुकमा में 16.43, बीजापुर में 19 सेंटीमीटर बारिश हुई है, जो सीजन में एक दिन में सर्वाधिक बारिश का रिकॉर्ड है।

बस्तर अंचल में बीते 36 घंटे से हो रही बारिश के कारण इंद्रावती समेत सभी प्रमुख नदी-नाले उफान पर हैं। राजधानी से जगदलपुर का तो बीजापुर जिले का पड़ोसी राज्यों तेलंगाना व महाराष्ट्र से संपर्क कट गया है। बीजापुर जिले के दर्जनों गांवों का संपर्क जिला तथा ब्लॉक मुख्यालयों से कट गया है। रायपुर-जगदलपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर परचनपाल के समीप रायकेरा नाले का पानी सड़क पर आ जाने के कारण आवागमन बंद है। जगदलपुर-केशलूर, दंतेवाड़ा-बीजापुर, सुकमा-कोंटा मार्ग भी नदी-नालों का पानी बढ़ने के कारण दिन में कई घंटे प्रभावित रहे।बस्तर संभाग में बाढ़ के हालात के चलते संभागायुक्त अमृत खलखो ने मंगलवार को स्कूल-कॉलेजों में अवकाश घोषित कर दिया।

Back to top button