बड़ों की बातें

सुबह-सुबह क्यों उत्तेजित होता है आपका प्राइवेट पार्ट? जान लीजिए इसकी वजह

किशोरावस्था की शुरुआत से ही सुबह उठने पर लिंग में उत्तेजना का एहसास होने लगता है। अभी तक यह तर्क दिया जाता था कि पेट में बिना पचा भोजन पड़ा रहे तो लिंग उत्तेजित हो जाता है जबकि यह पूरा सच नहीं है। जानिए लिंग उत्तेजना वजह…

सेक्स की भावनाओं के कारण आई लिंग उत्तेजना तथा दूसरी नींद में रैपिड आई मूवमेंट(आरईएम ) के दौरान या गहन स्वप्न की अवस्था में। पुरुषों को अक्सर आरईएम से संबंधित इरेक्शन होता है। इस तरह का इरेक्शन दिमाग के जिस् हिस्से के सक्रिय होने के कारण सामने आता है, वह सेक्सुअल इरेक्शन के मौके पर निष्क्रिय रहता है।

मनोवैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखें तो दोनों में इरेक्शन ही एक मात्र समानता है। महिला पार्टनर को इस तरह का इरेक्शन देखकर कन्फ्यूजन होता है। वह तो यही जानती है कि इरेक्शन का सीधा संबंध सेक्स से है। वह यह सोच कर दुःखी हो जाती है कि पार्टनर को रात में पूरा यौन सुख हासिल नहीं इसलिए सुबह इरेक्शन हो गया है।

सुबह की उत्तेजना में सेक्स की भावना का अभाव होने के बावजूद यह सेक्स के दौरान होने वाली उत्तेजना से कहीं सख्त एवं प्रभावशाली होता है। इसे मनोवैज्ञानिक ‘मॉर्निंग वुड’ भी कहते हैं। इस अवस्था में किया गया सेक्स भावना विहीन मालूम पड़ता है।

अधिकांश पुरुषों का मानना है कि यह आसानी से शिथिल भी नहीं होता। इन्हें लेकर पुरुष अक्सर परेशान ही होते हैं क्योंकि यह बिन बुलाए मेहमान की तरह आ टपकता है और आसानी से किसी मंजिल तक भी नहीं पहुंचता।

Back to top button