धर्म

सुबह-सुबह करिए इनमें से किसी भी एक चीज का दान, होगा हर समस्‍या का समाधान

दान एक ऐसा कार्य है, जिसके जरिए हम न केवल धर्म का ठीक-ठीक पालन कर पाते हैं बल्कि अपने जीवन की तमाम समस्याओं से भी निकल सकते हैं। आयु, रक्षा और सेहत के लिए तो दान को अचूक माना जाता है। जीवन की तमाम समस्याओं से निजात पाने के लिए भी दान का विशेष महत्व है। दान करने से ग्रहों की पीड़ा से भी मुक्ति पाना आसान हो जाता है। ज्योतिष के जानकारों की मानें तो अलग-अलग वस्तुओं के दान से अलग-अलग समस्याएं दूर होती हैं, लेकिन बिना सोचे-समझे गलत दान से आपका नुकसान भी हो सकता है।

कई बार गलत दान से अच्छे ग्रह भी बुरे परिणाम दे सकते हैं। ज्योतिष के जानकारों की मानें तो वेदों में भी लिखा है कि सैकड़ों हाथों से कमाना चाहिए और हजार हाथों वाला होकर दान करना चाहिए। आज हम आपको कुछ ऐसी चीज के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके दान करने से आप अपने ग्रहों के दोष को मुक्त कर सकते हो और साथ ही आपके भाग्य का भी आपको पूरा-पूरा साथ मिलेगा। लेकिन ध्‍यान रहे कि आपको इन चीजों का दान शाम होने से पहले यानि सुर्यास्‍त के पहले ही करना होगा। वहीं ध्यान रखे की दान देने के समय आपके अंदर अहंकार की भावना न हो।

नमक: इसका दान करने से आपका बुरा समय खत्‍म हो जाएगा और इससे आपको शुभ फल की प्राप्ति होगी।

काले तिल: काले तिल का दान करने से व्‍यक्ति को शक्ति मिलेगी और म्रत्यु का डर नही होगा।

घी: जो कोई अगर शरीर से कमज़ोर हैं वो घी का दान जरुर करे इसे करने से आपको शारीरिक शक्ति मिलेगी।

सफेद मिठाई: शिवभक्‍त को कहेंगे कि उन्‍हें प्रसन्‍न करने के लिए सफेद मिठाई का दान करें और गरीबो में भी दान करें इस शिव जी जल्दी ही प्रसन्न हो जायेगे और यदि आपकी कुंडली में कोई ग्रह दोष होगा या भाग्य आपका साथ नहीं देता तो दोष भी दूर होगा और भाग्य भी आपका साथ देगा।

कपड़े: अगर आप नए या पुराने वस्त्रों का दान करें इसे आपकी आयु भी बढ़ेगी और आपको रोगों से भी छुटकारा मिलेगा।

अनाज: यदि आप चाहते हैं की आपके घर में कभी अन्न की कमी न हो तो आप अनाज का दान करें या गरीबों को भोजन करवाए।

कपास: का दान करें इसे सुख-समृधि की प्राप्ति होती हैं।

लोहा: लोहे का दान करे इसे शनि का सुबह प्रभाव बनता हैं।

दवा: अगर किसी गरीब, निर्धन अथवा जरूरतमंद को दवाई का दान करते हैं तो असीम सुख प्राप्त होता हैं।

बैल: बैल का दान करने से आपको धन और जायदाद की प्राप्ति होगी।

Back to top button