उत्तर प्रदेशजरा हट के

अस्पताल में बुलाया गया काजी, पेशेंट बेड पर पढ़ा निकाह, हैरान कर देगा ये मामला

अस्पताल में जहां रोज बीमार व्यक्ति उपचार के लिए आते है, वहीं पहली बार ऐसा हुआ कि एक व्यक्ति का निकाह काजी ने जिला अस्पताल के बेड पर पढ़वाया. लड़का लड़की को अपने साथ भगाकर ले गया था. पकड़े जाने पर लड़की के परिजनों ने दोनों की जमकर पिटाई कर दी. जिसके बाद युवक को अस्पताल में भर्ती कराया गया. लड़के के परिजनों ने पुलिस में पिटाई शिकायत की थी, जिसके बाद दोनों परिवारों का समझौता होने पर लड़का लड़की का निकाह करा दिया गया.

कटघर थाना क्षेत्र के करुला गली नंबर एक के रहने वाला शाहनवाज अपनी दूर की रिश्तेदार आसमां से प्यार करता था. आसमां भी करूला गली नंबर 1 में ही रहती है. दोनों के परिजन उनकी शादी के लिए राजी नहीं थे इसलिए शाहनवाज और आसमां ने मुरादाबाद से दूर जाकर शादी कर अपनी नई दुनिया बसाने का फैसला किया. बीते शनिवार को दोनों घर छोड़कर भाग गए जब इस बात का पता परिजनों को चला तो उन्होंने इस बात की शिकायत पुलिस को भी की. सोमवार 29 जुलाई को आसमां के परिजनों को उनकी उत्तरांचल के रुड़की शहर में होने की सूचना मिली. परिजनों ने दोनों को रुड़की में पकड़ लिया और दोनों की शादी करवाने के बहाने मुरादाबाद वापस ले आए.

आसमां के परिजनों ने शनिवार को घर में बंद करके दोनों को बहुत पीटा. हालत गंभीर होने पर शाहनवाज को जिला अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया. पिटाई से नाराज परिजनों ने पुलिस में शिकायत की जाने के बाद दोनों परिवार शादी के लिए राजी हो गए. जिस पर परिजनों की मौजूदगी में काजी ने जिला अस्पताल के महिला सर्जिकल वार्ड में आज का निकाह पढ़वाया. निकाह में मैहर की 50000 की रकम रखी गई और गवाहों के हस्ताक्षर कराए गए. युवक के चाचा शफीक ने बताया कि शाहनवाज मेरा भतीजा है जो लड़की को लेकर अपने साथ चला गया था. लड़की भी दूर की रिश्तेदार है. इस पूरे मामले में पुलिस केस हो गया था. दोनों के परिजनों की रजामंदी से दोनों का निकाह करवा दिया गया है.

शादी करवाने वाले काजी अखलाक अहमद ने बताया कि जिला अस्पताल में पहली बार निकाह करवाया है. दोनों परिवार शादी के लिए राजी हो गए हैं लड़के ने भी निकाह कबूल कर लिया है.

 

Back to top button