उत्तर प्रदेश

आखिरकार…सेंगर पर सख्त हुए सरकार, लेकिन क्या ये फैसला देर से नहीं हुआ ?

बीजेपी ने उन्नाव रेप कांड के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पार्टी से निकाल दिया है. इससे पहले कुलदीप सिंह को बीजेपी ने निलंबित किया था, लेकिन रेप पीड़िता के साथ हुए सड़क हादसे के बाद विधायक सेंगर को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया गया है.

बता दें कि विपक्ष के विरोध के बीच सेंगर का मामला बीजेपी के लिए गले की फांस बनता जा रहा था. ऐसे में पार्टी से सेंगर को निकालने का फैसला लिया गया. बता दें कि मामले की गंभीरता को देखते हुए उन्नाव रेप केस और पीड़ित परिवार के ऐक्सिडेंट केस को सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया था.

विपक्षी दलों का आरोप था कि इस पूरे मामले में विधायक सेंगर को बीजेपी का समर्थन मिल रहा है. इसके बाद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा था कि सेंगर दो साल से पार्टी से निलंबित हैं और रहेंगे.

इसके बाद कुछ ऐसी तस्वीरें भी सोशल मीडिया सामने आ रही थीं, जिसमें सेंगर की पत्नी सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ दिख रही थीं. इसे लेकर भी विपक्षी दलों ने बीजेपी से सवाल पूछा था. माना यही जा रहा है कि जनता और विपक्ष के दबाव ने बीजेपी को . फैसला लेने के लिए मजबूर कर दिया है.

Back to top button