उत्तर प्रदेश

योगी को इस्तीफा सौंपने जा रहे ये बीजेपी विधायक, केस दर्ज होने से हैं आहत !

यूपी में हरदोई के बिलग्राम-मल्लावां से भाजपा विधायक आशीष सिंह आशू ने रविवार को इस्तीफे की पेशकश करने से हड़कंप मच गया है. भारत समाचार की रिपोर्ट के मुताबिक सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के दौरान वह इस्तीफा देने की पेशकश कर सकते हैं. बता दें कि मल्लावां कस्बे में शुक्रवार देर शाम हुए बवाल में नगरपालिका अध्यक्ष अंकित जायसवाल ने बिलग्राम-मल्लावां से बीजेपी विधायक आशीष सिंह आशू और नौ नामजद के अलावा 200 अज्ञात के खिलाफ घर में घुसकर तोड़फोड़ और जानलेवा हमला कर लूटपाट की एफआईआर दर्ज की गई है.

दरअसल मल्लावां चौराहा पर शुक्रवार की देर शाम पालिकाध्यक्ष और विधायक समर्थकों के बीच जमकर मारपीट, पथराव और फायरिंग हो गई थी. जिसके बाद बवाल ने विक्राल रूप ले लिया है. पूरी रात बवाल मचा रहा और आखिरकार दोनों पक्षों की ओर से एफआइआर दर्ज कराई गई. पालिकाध्यक्ष अंकित जायसवाल ने दर्ज कराई एफआईआर में बताया कि शुक्रवार शाम वह अपने आवास के बाहर जनसमस्याएं सुन रहे थे, तभी विधायक आशीष सिंह आशू अपने तमाम साथियों व दो अज्ञात लोगों के साथ वैध व अवैध असलाह लेकर वहां पहुंचे और उनके घर को चारों ओर से घेर लिया. उन पर फायरिंग हुई. घर में घुसकर महिलाओं से अभद्रता की गई व कीमती सामान को वे सब लूट कर भाग निकले.

वहीं दूसरी तरफ से देवनपुर निवासी हिमांशू पटेल ने दर्ज कराई गई एफआईआर में बताया कि शुक्रवार की शाम वह अपने साथी प्रदीप कुमार के वाहन से कुछ साथियों संग मल्लावां चौराहा पर कोल्ड ड्रिंक पीने आया था. उसी समय सिद्धार्थ उर्फ सिद्धू पानी का गिलास लेकर आए और गाड़ी पर फेंक दिया. जब उन्होंने इसकी वजह पूछी तो गाली देते हुए लड़ाई करने लग और अपने भाइयों अंकित जायसवाल, विशाल जायसवाल, रोहित राणा, राहुल शर्मा, हाजी जलालुद्दीन, इंद्रपाल वर्मा, राजभान ङ्क्षसह व अन्य तमाम लोगों को बुला लिया. इसमें अंकित, इंद्रपाल और हाजी जलालुद्दीन ने अपनी लाइसेंसी राइफल से जान से मारने की नीयत से गोली चला दी. इस दौरान ईटा पत्थर चले और फायरिंग भी हुई.  इसके कारण पूरी रात बवाल मचा रहा और आखिरकार दोनों तरफ से एफआईआर दर्ज करवाई गई थी.

इस मामले में पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि अंकित जायसवाल के कब्जे से तमंचा और कारतूस के साथ ही एयर गन बरामद की गई है. उनके आवास में छिपे सात अन्य लोगों सहित 17 और व्यक्तियों को हिरासत में लिया गया है. जांच कर कार्रवाई की जा रही है.

Back to top button