जरा हट के

दुल्हन के बारे में सुनी झूठी बात, दूल्हा वापिस ले जा रहा था बारात, फिर कहानी में आया ट्विस्ट !

आमतौर पर देखा जाता है, कि भारतीय शादियां बिना किसी बवाल के पूरी हो ही नहीं सकती. यूँ तो आपने शादियों में हुए कई किस्सों के बारे में सुना होगा, पर आज जो किस्सा हम आपको बताने वाले है, उसे जान कर आप भी हैरान रह जायेंगे.

महोबा जिले के रहने वाले कालीचरण राजपूत की बेटी तीजा का विवाह पास के अकौनी गांव में रहने वाले जय हिन्द से तय हुआ था. तय दिन पर बारात वहां पहुंची थी.

फिर बारातियो के नाश्ता करने के बाद किसी महिला ने दूल्हे पक्ष से ये कह दिया कि दुल्हन के शरीर पर सफ़ेद दाग है. ऐसे में दूल्हा पक्ष ने बारात वापिस ले जाने का फैसला कर लिया.

वही दुल्हन के पिता ने पुलिस को फोन कर दिया. इसके बाद पुलिस दुल्हन और दूल्हा पक्ष को थाने लेकर गयी. फिर दोनों पक्षों की महिलाओ के साथ दुल्हन को एक कमरे में भेजा गया.

हालांकि इसके बाद ये सच सामने आ गया कि दुल्हन के शरीर पर एक भी दाग नहीं था. इसके बाद महिलाओ ने जब दूल्हे को सच बताया तो उसे अपनी गलती का एहसास हो गया.

दूल्हे ने माफ़ी मांगते हुए कहा, कि उसे किसी की बातों में नहीं आना चाहिए था. इसके बाद दूल्हे ने कहा, कि मैं अपनी गलती पर बेहद शर्मिंदा हूँ और अब मैं इस लड़की से ही शादी करना चाहता हूँ. फिर पुलिस ने दोनों पक्षों की रजामंदी से थाने के मंदिर में दोनों की शादी करवा दी.

वैसे इसके बारे में पुलिस का कहना है, कि दूल्हा पक्ष दुल्हन पक्ष की बात सुने बिना ही बारात वापिस ले जा रहा था. जो बिलकुल गलत था. ऐसे में अगर दूल्हा नहीं मानता, तो उस पर केस भी हो सकता था. पर खुशकिस्मती से ऐसा कुछ करने की जरूरत नहीं पड़ी.

Back to top button