एटलस साइकिल की मालकिन ने फांसी लगाकर दे दी जान, सुसाइड नोट में लिखा-बच्चों का ख्याल रखना

0
26

साइकिल बनाने वाली मशहूर कंपनी एटलस के मालिकों में से एक और संजय कपूर की पत्नी नताशा कपूर का शव पंखे पर लटका मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई। सूचना मिलते ही पुलिस ने दिल्ली के औरंगजेब लेन स्थित कोठी से शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए गंगाराम हॉस्पिटल भिजवा दिया है। प्राथमिक जांच में पुलिस इसे खुदकुशी बता रही है, लेकिन कमरे का दरवाजा खुले की होने की वजह से पुलिस इसे संदिग्ध मानकर कई एंगल से जांच कर रही है।

दिल्ली पुलिस के अनुसार, 57 वर्षीय नताशा कपूर का सुसाइड नोट मिला है। पुलिस ने बताया कि नताशा ने अपने सुसाइड नोट में लिखा कि  कुछ बात ऐसी है जो नहीं बता सकती। बच्चों का ख्याल रखना। शायद  ‘वह अपनी जिंदगी से खुश नहीं थी।’ अधिकारियों का मानना है कि आर्थिक तंगी भी खुदकुशी की वजह हो सकती है। नई दिल्ली जिले की तुगलक रोड थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है।

परिवार के लोगों ने उतारा शव, फिर पुलिस को बुलाया
पोस्टमॉर्टम के बाद नताशा कपूर के शव को परिजनों को सौंप दिया गया। बुधवार को लोधी रोड स्थित श्मशान घाट पर नताशा का अंतिम संस्कार कर दिया गया। बताया जा रहा है कि संजय कपूर का परिवार दिल्ली के औरंगजेब लेन में रहता है। संजय कपूर भी यहीं परिवार के साथ रहते हैं। मंगलवार दोपहर जब नताशा कपूर ने लंच नहीं किया, तो परिवार के सदस्य उन्हें ढूढ़ने लगे। संजय कपूर के बेटे सिद्धांत कपूर ने फोन किया, तो नताशा ने फोन भी नहीं उठाया। इसके बाद नताशा का शव एक कमरे में चुन्नी के फंदे से पंखे से लटका मिला। परिजनों ने चुन्नी काटकर नताशा कपूर के शव को फंदे से नीचे उतारा। इसके बाद डॉक्टर को बुलाया गया और डॉक्टरों ने उनको मृत घोषित कर दिया। इसके बाद बेटे सिद्धांत कपूर ने मंगलवार शाम इसकी सूचना पुलिस को दी।

दीवार पर लिखा था जीवन का अंतिम लक्ष्य मृत्यु है
दिल्ली पुलिस ने जब कमरे को खंगालना शुरू किया, तो उसकी नजर दीवारों पर गई। दीवार पर लिखा था कि ‘जीवन का अंतिम लक्ष्य मृत्यु है।’ इसके अलावा दीवार पर यह भी लिखा मिला था- जो लोग इज्जत नहीं देते हैं, उनके साथ खड़े होने की बजाय अकेले रहना ज्यादा अच्छा है।