Breaking News
Home / ख़बर / देश / मिशन यूपी, लोकसभा चुनाव के लिए राहुल ने  100 प्रत्याशियों की फौज हुए तैयार !

मिशन यूपी, लोकसभा चुनाव के लिए राहुल ने  100 प्रत्याशियों की फौज हुए तैयार !

Image result for राहुल

– राहुल और प्रियंका की रैली को मिले रिस्पांस से पार्टी उत्साहित,ऐसी और रैली कराने पर विचार नई

दिल्ली। कांग्रेस ने आंतरिक सर्वे, संगठन के कार्यकर्ताओं व जनता से लिए इनपुट के आधार पर लोकसभा चुनाव के प्रत्याशियों की पहली सूची फरवरी के तीसरे सप्ताह में जारी कर सकती है। कांग्रेस के एक पदाधिकारी का कहना है कि कोशिश 15 फरवरी के बाद पहली सूची 100 प्रत्याशियों की जारी करने की है। इसके लिए नाम लगभग तय कर लिये गये हैं।

एक राउंड और बैठक होनी है। अंतिम निर्णय पार्टी अध्यक्ष करेंगे। उनका कहना है कि पार्टी एक साथ सभी राज्यों रिवाइव करने की कोशिश कर रही है लेकिन ज्यादा फोकस हिन्दी भाषी राज्यों पर और उसमें भी उ.प्र. पर है। राजस्थान , मध्यप्रदेश , झारखंड , बिहार , हरियाणा , उत्तराखंड , हिमाचल पर भी पूरा ध्यान दिया जायेगा।

प्रत्याशियों की सूची पहले घोषित करने की पार्टी की योजना के बारे में उनका कहना है कि पार्टी आला कमान लोकसभा चुनाव फ्रंट फुट पर लड़ना चाहते हैं। वह बिना समय गंवाये आगे बढ़कर लड़ना चाहते हैं। ताकि कार्यकर्ताओं में संदेश जाये कि अब पूरी ताकत से मैदान में उतरना है। क्योंकि राहुल व प्रियंका की एक साथ हुई रैली का पूरे देश में जो रिस्पांस मिला है उससे भी कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों का मनोबल बढ़ा है। इसलिए प्रत्याशी पहले घोषित करके मैदान में उतर जाने की बात होने लगी है।

इस बारे में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोहन प्रकाश का कहना है कि प्रियंका गांधी के राजनीति में आने का जनता में जो रिस्पांस मिल रहा है उससे संकेत साफ है कि कांग्रेस फिरसे उठने लगी है। इसका असर हिन्दी भाषी राज्यों में तो बहुत पड़ेगा ही, महाराष्ट्र , कर्नाटक जैसे राज्यों पर भी पड़ेगा। सभी जगह सीटें बढ़ेंगी। एआईसीसी सदस्य अनिल श्रीवास्तव का कहना है कि कांग्रेस के जो समर्थक हिम्मत हार बैठे थे , वे अब फिर उठ कर खड़े हो गये हैं।

राहुल के साथ प्रियंका के आ जाने से माहौल ही बदल गया है। पूर्वी उत्तर प्रदेश के लगभग हर गांव से कोई न कोई व्यक्ति 11 फरवरी को दोनों की संयुक्त रैली देखने लखनऊ गया था। कई परिवार तो ऐसे हैं जिसमें पिता , बेटा व बेटे का बेटा यानी तीन पीढ़ी गई थी। पश्चिम उत्तर प्रदेश के गांवों से भी लोग आये थे। उ.प्र. के सटे राज्यों से भी लोग आये थे। तमाम दबावों के बावजूद राहुल – प्रियंका – ज्योतिरादित्य सिंधिया की रैली का टेलीविजन चैनलों ने लाइव कवरेज किया। सोशल मीडिया पर भी छाया रहा ।

दूसरे दिन 12 फरवरी को लगभग सभी समाचार पत्रों में इसकी खबर प्रमुखता से छपी । अनिल श्रीवास्तव का कहना है कि जनता के इस रिस्पांस से पार्टी के वरिष्ठ नेता व रणनीतिकार बहुत उत्साहित हैं। और राहुल -प्रियंका की इसी तरह की रैली अन्य कई जगह भी कराने की राय जाहिर करने लगे हैं।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com