नाबालिग को प्रेमजाल में फंसा किया बलात्कार, अब वो बन गई बिन ब्याही मां

0
65

भीलवाड़ा के मातृ एवं शिशु चिकित्सालय में सोमवार को दुष्कर्म की शिकार किशोरी ने एक बच्ची को जन्म दिया है. प्रसव के बाद बाल कल्याण समिति अध्यक्ष के समक्ष किशोरी के दिये बयान के आधार पर दुष्कर्म के आरोपित के खिलाफ भीलवाड़ा में बिना नंबर की एफआईआर दर्ज कर संबंधित थाने में भेजी जाएगी. इसके साथ ही किशोरी के परिजनों को भी भीलवाड़ा बुलाया गया है.

सोमवार को 15 साल की एक किशोरी को पेटदर्द की शिकायत पर चिकित्सालय में भर्ती किया गया था. यहां सोनाग्राफी कराने से पूर्व ही किशोरी ने बच्ची को जन्म दिया. किशोरी जयपुर जिले की है, जिसने यहां मातृ एवं शिशु चिकित्सालय में बच्ची को जन्म देने के बाद अपने साथ हुए दुष्कर्म का खुलासा बाल कल्याण समिति अध्यक्ष के सामने किया.

बाल कल्याण समिति अध्यक्ष डॉ. सुमन त्रिवेदी ने बताया कि 15 साल की यह किशोरी मूल रूप से जयपुर जिले की रहने वाली है. करीब एक महीने पहले यह किशोरी भीलवाड़ा के प्रताप नगर थाना इलाके की एक कॉलोनी में रहने वाली अपनी बहन के पास आई थी. सोमवार सुबह इसको पेट दर्द की शिकायत हुई. उसको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां उसने बच्ची को जन्म दिया.

समिति अध्यक्ष ने अस्पताल में किशोरी से बात की तो उसने बताया कि उसे गांव के ही एक युवक ने शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किया था. समिति अध्यक्ष के अनुसार पीड़ित ने पहले परिवार में किसी को उक्त घटना के बारे में नहीं बताया.