मायावती को लगा तगड़ा झटका, कमल थाम लिए ये दो बड़े नेता

0
65

लखनऊ । संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीमराब अम्बेडकर के परिनिर्वाण दिवस (6 दिसम्बर) की पूर्व संध्या पर बहुुजन समाज पार्टी (बसपा) को बड़ा झटका लगा है। उत्तर प्रदेश में पीडब्ल्यूडी में विभागाध्यक्ष रहे टी. राम के साथ मायावती सरकार में पूर्व मंत्री विनोद सिंह गुरुवार को बड़ी संख्या में अपने समर्थकों के साथ भाजपा में शामिल हो गए। इन्हें प्रदेश कार्यालय में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह तथा कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक ने पार्टी की सदस्यता दिलाई।

प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव ने भाजपा परिवार में शामिल होने पर सभी लोगों का अभिनंदन करते हुए कहा कि भाजपा पंक्ति के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति के जीवन स्तर को सामाजिक व आर्थिक रूप से समृद्ध करने का ध्येय लेकर आगे बढ़ रही है। आप सभी भाजपा परिवार में शामिल होकर इस ध्येय पूर्ति में सहभागी बनेंगे। पूर्व मंत्री विनोद सिंह ने कहा कि योगी सरकार प्रदेश में सभी वर्गों के हित में कार्य कर रही है। भाजपा की नीतियों से प्रभावित होकर मैंने पार्टी ज्वाइन की।

विनोट सिंह ने लोस चुनाव में मेनका गांधी का किया था समर्थन
मायावती सरकार में प्रदेश के पर्यटन मंत्री रहे विनोद सिंह ने लोकसभा चुनाव के दौरान सांसद मेनका गांधी का चुनाव के दौरान खुलकर समर्थन किया था। चुनाव प्रचार के दौरान मेनका गांधी के साथ प्रचार में भी खुलकर साथ भी दिया था। सुलतानपुर के लंभुआ विधानसभा क्षेत्र से वर्ष 2007 में विनोद सिंह पहली बार बसपा से विधायक चुने गए थे। इसके बाद बसपा सरकार बनने पर उन्हें पर्यटन मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बनाया गया था। लंभुआ विधानसभा क्षेत्र से विनोद सिंह वर्ष 2012 के चुनाव मैदान में थे लेकिन उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा था। वह बसपा से तीन बार चुनाव लड़ चुके हैं।

286 वोट से चुनाव हारे थे टी. राम
टी. राम 2012 से 16 तक वाराणसी के अगजरा से विधायक थे। बीते लोकसभा चुनाव में वह जौनपुर के मछली शहर से बसपा के प्रत्याशी थे और सिर्फ 286 वोट से पराजय झेली थी।