मायावती के बीजेपी से की कांग्रेस की तुलना, जमकर किया प्रहार..

0
58

Mayawati

आगामी लोक सभा चुनाव के पहले सियासी माहौल गरमा गया है. सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपनी कमर कस ली है. हाल में ही सपा-बासप गठबंधन के बाद यूपी में भाजपा के लिए एक बड़ी परेशानियो का दौर शुरू हो गया है. इस बीच कांग्रेस ने भी तीन राज्यों में जीत के बाद अब यूपी में आगमी लोक सभा में जीत हासिल करने के लिए अपनी बहन प्रियंका पर दांव लगाया है. इस बीच एक बड़ी खबर ने सियासत को गरमा दिया है.

बताते चले बहुजन समाज पार्टी (BSP) प्रमुख मायावती ने एक बार फिर बीजेपी के साथ-साथ कांग्रेस पर निशाना साधा है। मायावती ने गुरुवार को कहा कि भाजपा और कांग्रेस दोनों ने भारत की जनता पर आतंक फैलाने वाली सरकारें बनाई हैं। मायावती ने कहा कि लोगों को यह तय करना चाहिए कि दोनों दलों के बीच कोई मतभेद है या नहीं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने गोहत्या के संदेह में निर्दोष मुसलमानों के खिलाफ क्रूरता से काम किया है।

मायावती ने कहा

‘कांग्रेस की सरकार ने पूर्ववर्ती बीजेपी की तरह गोहत्या के शक में मुसलमानों पर बर्बर कार्रवाई की। अब यूपी बीजेपी सरकार ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के 14 छात्रों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया। दोनों सरकारी आतंक है, अति निंदनीय। लोग फैसला करें कि दोनों सरकारों में क्या अंतर है।’

मायावती का ये बयान स्पष्ट रूप से मध्य प्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार के संदर्भ में था, जिन्होंने हाल ही में गायों पर हमला करने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (NSA) के तहत लोगों पर मामला दर्ज किया था।

उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा के गठबंधन में कांग्रेस को शामिल नहीं किया गया था। मायावती और अखिलेश यादव के फैसले के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस उत्तर प्रदेश में अपने बूते आगामी लोकसभा चुनाव में उतरेगी। उन्होंने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं कि पार्टी उत्तर प्रदेश में पूरी ताकत व क्षमता के साथ आगामी लोकसभा चुनाव लड़ेगी। मगर उन्होंने कहा कि वह दोनों दलों के नेता मायावती और अखिलेश यादव का आदर करते हैं।