बड़ों की बातें

हस्तमैथुन से महिलाओं को होते हैं ऐसे-ऐसे फायदे, क्या आप हैं जानते ?

महिलाओं में हस्तमैथुन को हमेशा से ही कई तरह के भ्रमो से घिरा हुआ देखा गया है. कही से जहाँ यह सुनने को मिलता है कि यह सेहत के लिए ठीक नहीं होता है तो कही से यह बात भी सामने आती है कि इससे सेहत पर कोई प्रभाव नहीं होता है. गौरतलब है कि हस्थमैथुन करने से उन्माद बाहर निकलता है और इसको लेकर लोगो की सोच भी बदल रही है. आज हम भी महिलाओं में हस्थमैथुन से जुडी हुई कुछ जानकारी सामने लेकर आए है. जी हाँ, आज हम बात कर रहे है हस्थमैथुन के लाभो के बारे में. तो आइये जानते है क्या है ये लाभ-
* बता दे कि हस्थमैथुन से डिप्रेशन कम होता है. जी हाँ, रिसर्च के मुताबिक ऑर्गेजम से इन्डॉर्फिन्स बढ़ता है और यह हमें डिप्रेशन से बचाता है.
* रिसर्च से ही यह बात भी सामने आई है कि फीमेल हस्तमैथुन में सर्वाइकल इन्फेक्शन से राहत मिलती है. रेग्युलर ऑर्गेजम से गर्भाशय पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है.
* इसके अलावा हस्थमैथुन करने से अनचाहे गर्भ से मुक्ति भी मिलती है.
* हस्थमैथुन से नींद में मदद मिलती है क्योकि ऑर्गेजम से ब्लड प्रेशर लो होता है और इससे इन्डॉर्फिन्स को राहत मिलती है.
* एक्सपर्ट्स यह भी कहते है कि जो हस्तमैथुन को लेकर सहज होते हैं वे अपने शरीर और सेक्शुअलिटी को लेकर भी कम्फर्ट होते हैं.
* अमेरिकन यूरोलॉॉजिकल वार्षिक मीटिंग में कहा गया कि जो कम से कम मंथली हस्तमैथुन करते हैं उनमें प्रॉस्टेट कैंसर की आशंका कम होती है.
* कई महिलाओं का कहना है कि पिरीअड्स के दौरान हस्तमैथुन से दर्द कम होता है.
* यूके में 5 लाख के करीब लोग सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिजिज से पीड़ित हैं. इसके एचआईवी के मामलों में बढ़ोतरी होती है. ऐसे में हस्तमैथुन एक अच्छा जरिया है.
Back to top button