क्राइम

हमीरपुर में सामूहिक हत्याकांड : एक परिवार के पांच लोगों की हत्या, दरिंदो ने हथौड़े से किये वार

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जनपद में कानपुर-सागर नेशनल हाइवे-34 पर रानी लक्ष्मीबाई तिराहे इलाके में एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या कर दी गई। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक समेत अन्य आला अधिकारी मौके पर पहुंचकर घटना की जांच में जुट गये हैं। मृतकों में दो मासूम बच्चियां भी शामिल हैं।

हमीरपुर नगर के रानी लक्ष्मीबाई तिराहे के पास बस्ती में रिटायर्ड कलेक्ट्रेट कर्मचारी नूर बख्श अपने परिवार के साथ रहता है। गुरुवार की रात उसके बेटे रहीश (27), बहू रोशनी (25), आलिया (5), सानिया (3) पुत्री रहीश व शफीना (85) पत्नी नोखेलाल की हत्या कर दी गई। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। प्रभारी निरीक्षक केपी सिंह फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा, अपर पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह, सीओ सदर अनुराग सिंह भी मौके पर पहुंचकर घटना की जांच में जुट गये हैं। घटनास्थल पर फॉरेसिंक टीम ने भी जांच शुरू कर दी है।

सदर कोतवाल केपी सिंह ने बताया कि एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या लोहे के हथौड़े व पत्थर से की गयी है। घटना की छानबीन जारी है। जल्द ही घटना का खुलासा होगा। अभी शव घर से नहींं निकाले गए है, कई थानों की भारी फ़ोर्स के साथ डीएम, एसपी मौके पर है, कानपुर से डॉग स्क्वाड और फोरेंसिक टीम का इंतजार किया जा रहा है।

ढाई दशक में हुए आधा दर्जन सामूहिक हत्याकांड

हमीरपुर नगर में गुरुवार को रात एक ही परिवार के पांच लोगों की सामूहिक हत्या की वारदात ने मौदहा कस्बे में दो साल पहले हुये सामूहिक नरसंहार की याद ताजा कर दी है। 14 मई 2017 की देर रात मौदहा कस्बे के देवी चौराहे पर तिमंजिले मकान में केपी सिंह, उसकी दाई, पुत्री रानी व नातिन रामलली व छह माह की बच्ची का शव पुलिस ने बरामद किया था। यह घटना सम्पत्ति के लिये की गयी थी जिसमें पूरे परिवार का सफाया हो गया था। तत्कालीन पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने घटना का खुलासा कर मृतक केपी सिंह के भतीजे जुगल किशोर सिंह चंदेल व उसके एक साथी को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। हत्या से पहले सभी को भोजन के साथ जहर दिया गया था।

करीब एक दशक पूर्व ललपुरा थाने के मोराकांदर गांव में भी एक ही परिवार के छह लोगों की हत्या घर में कर दी गयी थी।

इसी तरह करीब डेढ़ दशक पूर्व जरिया थाना क्षेत्र के मनकहरी गांव में छह लोगों को गोलियों से भून डाला गया था। २२ साल पूर्व हमीरपुर शहर में ही पांच लोगों की सामूहिक हत्या की गयी थी जिसमें भाजपा के पूर्व सदर विधायक समेत अशोक सिंह चंदेल समेत नौ लोग जेल में निरुद्ध है। इसके अलावा मुस्करा क्षेत्र में भी कई साल पहले चार लोगों की हत्या की गयी थी।

हमीरपुर नगर के रानी लक्ष्मीबाई तिराहे पर आज हुयी पांच लोगों की हत्या को लेकर फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है। शवों को कब्जे में लेकर पुलिस पंचनामा भरने की कार्यवाही कर रही है। घटनास्थल के आसपास पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। इस घटना को लेकर चित्रकूट धाम बांदा के डीआईजी हमीरपुर के लिये चल दिये है। इलाहाबाद जोन के एडीजी भी देर रात यहां आ सकते है।

Back to top button