उत्तर प्रदेश

मोबाइल और मायका छीन रहा सुहागिनों का सुख, आए दिन टूट रहे रिश्ते

घर कलह के चलते रिश्ते टूटने के मामले आए दिन प्रकाश में आते रहते हैं. आखिर वजह क्या है जो सिर्फ छोटी छोटी बातों पर दंपत्ति की जिंदगियां बर्बाद हो रही हैं. तो बता दें कि विवाहिता की जिंदगी में उसके मायका पक्ष का दखल देना और विवाहिता का जरूरत से ज्यादा मोबाइल का इस्तेमाल करना भी इसका एक कारण है. क्योंकि इस दौर में मोबाइल का प्रचलन सबसे ज्यादा है जिस कारण आपसी रिश्ते भी खत्म होते जा रहे हैं.

इन दिनों पति पत्नी के रिश्ते में दरार एवं परिवार में दरार के मामले बड़ी संख्या में महिला थानों में दर्ज किए जा रहे हैं. इनमें से अधिकतर केसों में विवाहिता ससुरालियों पर आरोप लगाती है और उसके मायके के लोग भी ससुरालियों को जेल भेजने या उनसे छुटकारा पाने के नए नए आयाम ढूंढ़ते नजर आते हैं. वही देखने में आया है कि महिला थाना में या काउंसलिंग के दौरान अभी तक दर्जनों मामलों में झगड़े की वजह बस यह है कि शादी के बाद भी मायके वाले अपनी लड़की के लगातार संपर्क में रहते हैं.

दिन भर में कई कई बार बात करते हैं. इस प्रकार हर छोटी-बड़ी बातों में मां या परिवार का हस्तक्षेप होने से शादी होकर नए घर में आई लड़की अपने पति और ससुराल पक्ष के साथ अपना रिश्ता नहीं बना पाती है. मायके वालों के दखल के कारण पहले दिन से ही वह ससुराल को अलग तरीके से देखने लगती है. वह शादी के कई महीनों बाद भी अपनी मां को मायके से मोबाइल पर दिनभर जुड़ी बाते करती रहती है और उनके ही निर्देश पर वह काम करती है. जिसके कारण हजारों घर बसने से पहले ही बिखरने लगते हैं और पति पत्नी के बीच तलाक की नौबत तक आ जाती है.

अगर पुलिस सूत्रों की माने तो महिला थाना या काउंसलिंग के दौरान तलाक के काफी मामलों में मायका वालों के लगातार हस्तक्षेप के कारण रिश्ते टूटने की बात कही गई है. शायद वजह भी यही है कि हर छोटी बड़ी बात में मायके के लोगों के हस्तक्षेप करने से पति पत्नी के रिश्तों में भी दरार आ रही हैं.

 

Back to top button