‘नीच’ बयान से अय्यर की वापसी, सोशल मीडिया पर हुआ गजब का ‘वेलकम’

0
4
'नीच' बयान से मणिशंकर अय्यर की वापसी, सोशल मीडिया पर ऐसे हुआ 'वेलकम'
कांग्रेस के निलंबित नेता मणि शंकर अय्यर एक बार फिर विवादों में आ गए हैं. अय्यर ने 2017 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे दिए गए अपने विवादास्‍पद बयान ‘नीच किस्‍म का आदमी’ को सही ठहराते हुए लेख लिखा है. एक अखबार में प्रकाशित उनके लेख के मुताबिक वे अपने बयान पर आज भी कायम हैं. उन्होंने मोदी को लेकर की गई टिप्पणी को सही ठहराते हुए कहा है कि वह अपनी टिप्पणी में भविष्यवाणी कर रहे थे.
'नीच' बयान से मणिशंकर अय्यर की वापसी, सोशल मीडिया पर ऐसे हुआ 'वेलकम'
गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान अय्यर के इस बयान पर काफी विवाद हुआ था. इस बीच बताते चले  लोकसभा चुनाव के बावजूद मणिशंकर अय्यर अब तक चर्चा में नहीं थे. लेकिन जैसे ही सामने आए, सोशल मीडिया पर लोग उनसे जुड़े मीम्स बनाने लगे.
'नीच' बयान से मणिशंकर अय्यर की वापसी, सोशल मीडिया पर ऐसे हुआ 'वेलकम'
असल में कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर दिए विवादास्‍पद बयान ‘नीच इंसान’ को सही ठहराते हुए एक लेख लिखा और पूछा क्या मैं सही नहीं था.
'नीच' बयान से मणिशंकर अय्यर की वापसी, सोशल मीडिया पर ऐसे हुआ 'वेलकम'
बताते हले अय्यर के इस बयान पर काफी विवाद हुआ था. उस समय इसकी बीजेपी समेत कई दलों ने तीखी आलोचना की थी और मणिशंकर अय्यर ने इसके लिए माफी भी मांगी थी, लेकिन हाल ही में छपे एक लेख में उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाल की रैलियों के बयानों का हवाला देते हुए कहा है, ‘याद है 2017 में मैंने मोदी को क्‍या कहा था? क्‍या मैंने सही भविष्‍यवाणी नहीं की थी?
'नीच' बयान से मणिशंकर अय्यर की वापसी, सोशल मीडिया पर ऐसे हुआ 'वेलकम'

अपने इस लेख में उन्‍होंने मोदी के रैलियों और इंटरव्‍यू में दिए गए बयानों का जिक्र किया है. मोदी की शैक्षिक पृष्‍ठभूमि का जिक्र करते हुए अय्यर ने भगवान गणेश की ‘प्‍लास्टिक सर्जरी’ और उड़नखटोलों को प्राचीन विमान बताने वाले उनके बयानों को ‘अज्ञानता भरे दावे’ कहे. इसके अलावा अय्यर ने उस इंटरव्‍यू का जिक्र भी किया जिसमें मोदी ने बालाकोट हमले के समय बादलों की आड़ का फायदा लेने की बात कही थी.

 

'नीच' बयान से मणिशंकर अय्यर की वापसी, सोशल मीडिया पर ऐसे हुआ 'वेलकम'

 

अपने लेख में अय्यर ने मोदी के उस बयान की भी आलोचना की, जिसमें मोदी ने कहा था कि ‘दिसंबर 1987 में राजीव गांधी आईएनएस विराट को पर्सनल टैक्‍सी की तरह लक्षद्वीप ले गए थे.’ इसी के बाद अय्यर ने लिखा है- ‘याद है 2017 में मैंने मोदी के बारे में क्‍या कहा था? क्‍या मैंने सही भविष्‍यवाणी नहीं की थी?

सोशल मीडिया पर कई लोगों ने ऐसे मीम्स शेयर किए जिनमें बीजेपी को मणिशंकर के बयान से फायदा होते दिखाया गया.