सुहागन महिलाएं मकर संक्रांति पर कर लें ये काम,घर में साल भर रहेगी खुशहाली

मकर संक्रांति का त्योहार हिन्दू धर्म के प्रमुख त्योहारों में शामिल है, जो सूर्य के उत्तरायण होने पर मनाया जाता है. इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़कर मकर राशि में प्रवेश करता है और सूर्य के उत्तरायण की गति प्रारंभ होती है. इस बार मकर संक्रांति बहुत ही खास है. इस बार मकर संक्रांति में बहुत ही दुर्लभ योग बन रहा है. जिसके कारण हर कोई इसका फायदा उठा सकता है. मकर संक्रांति के दिन दोपहर 01 बजकर 47 मिनट पर सूर्यदेव मकर राशि में प्रवेश करेंगे. जो कि बहुत ही श्रेष्ठ बताया गया है. इसके साथ ही इस दिन सर्वार्थसिद्ध योग लग रहा है. इस शुभ योग में सुहागन अगर इन कामों से कोई एक काम करें तो उसको बहुत लाभ मिलेगा. जानिए इन 5 कामों के बारें में.

मकर संक्रांति देवताओं के प्रकाश का आरंभ काल है. यानी ये देवताओं का प्रकाश पर्व है. यही कारण है कि हिंदू मान्यताओं में विश्वास रखने वाले करोड़ों श्रद्धालु मकर संक्रांति को व्रत, दान, स्नान आदि के माध्यम से इस पर्व पर संकल्पित होते हैं.

सुहागिन महिलाएं ये करें

  1. मकर संक्रांति महापर्व पर पति की दीर्घायु और सौभाग्य में वृद्धि के लिए महिलाएं जल्दी उठकर तीर्थ स्नान जाएं. इसके बाद सौभाग्यवती स्त्रियों को सुहाग की वस्तुओं का दान करें.
  2. इसमें साड़ी, बिछिया, कांच-लाख की चूडिय़ां, उत्तर वस्त्र (ब्लाउज), पायजेब, कुंकुं, मेहंदी, हल्दी, साबुत चावल, साबुत मूंग और बीज वाला लाल फल अनार दान करें.
  3. इसके अलावा शृंगार की समस्त में से कोई एक वस्तु या नित्य कार्य में आने वाली लौह वस्तु का दान या रुमाल या अपनी श्रद्धा और आर्थिक स्थिति के आधार पर दान करें.
  4. यह करने से वर्ष पर्यंत पारिवारिक सुख-समृद्धि होगी, पति को दीर्घायु की प्राप्ति होगी तथा बच्चों का बौद्धिक विकास होगा.