जरा हट के

जोक्स : पत्नी- तुम हर संडे जो मछली पकड़ने जाते थे, पति- हां हां ,तो क्या हुआ…

आज के इस दैनिक जीवन में भूख और प्यास की तरह ही अब हर व्यक्ति मानसिक तनाव का अनुभव भी करता है। हालाँकि मानव ने अपने सुख और आराम के लिए स्वचालित मशीनों और अनेक लाभदायक चीजों का निर्माण अवश्य किया है, लेकिन इनके साथ-साथ हमारी जीवन शैली भी मशीनों जैसी हो जाने से काफी लोग अपनी मानसिक शांति खो बैठते हैं।हम अक्सर ये देखते है की लोग मॉर्निंग वॉक के दौरान पार्क में नकली हंसी हंसते है क्योंकि अपनी प्राकृतिक मुस्कान तो वे भूल चुके है |लेकिन हम आपको बता दे हंसने के लिए किसी वजह की जरूरत नहीं होती. जब आप खुश होते हैं, टेंशन फ्री होते हैं तो आपके चेहरे पर मुस्कान होती है|


हम सभी जानते है की इस दुनिया में किसी को रुलाना तो बेहद आसान है और वहीँ किसी को हँसना कितना मुश्किल काम होता है |इसीलिए हम हमेशा यही कोशिश करते हैं कि दिनभर की थकान के बाद जब आप घर आयें तो आपको सुकून के कुछ ऐसे पल मिल जायें जिनसे आ भी पलक-झपकते ही रिलैक्स कर पाएं और दोस्तों ऐसा सिर्फ एक तकनीक से मुमकिन है.चुटकुले या जोक्स मात्र वो एक ऐसे चीज़ होती है जो हम सभी के चेहरों पर हंसी बिखेरने का काम करते है. हंसी के लिए आज इन्सान आज के वक्त में तो मानो तरस सा ही रहा है .लेकिन जब भी चुटकुले हमारे सामने आते है तो मुस्कान खुद ब खुद ही हमारे चेहरे पर आ जाती है.


एसे में हम आपके लिए लेकर आये है नए नए फ्रेश जोक्स जो जिन्हें पढ़कर आपकी बिह हंसी नहीं रुकेगी |तो चलिए शुरू करते है हंसने हंसाने का ये सिलसिला

1.पत्नी ने पति से कहा – देखो जी अगर आप मेरे साथ नहीं जाओगे तो मैं भी शॉपिंग करने नहीं जाऊंगी,
पति – क्या तुम्हें मेरे साथ जाना इतना अच्छा लगता है?
पत्नी – अच्छा कुछ नहीं लगता पत्नी ने मुंह बनाते हुए कहा सामान उठाने वाला भी तो कोई चाहिए,


2.पति ने पत्नी से कहा – अगर मेरी लॉटरी लग जाए तो तू क्या करेगी?
पत्नी – मैं आधे पैसे लेकर तुम्हें छोड़ दूंगी,
पति – मेरी सो रुपए की लॉटरी निकली है ये ले 50 रूपये और दफा हो जा,


3.शर्मा जी ने अपनी पत्नी से कहा अगर मैं मर जाऊं तो तुम सामने वाली फैमिली को जरूर बुलाना,
पत्नी ने पूछा – क्यों?
शर्मा जी – उनके घर की औरतें मुर्दे पर लिपट लिपट कर रोती है,


4.एक आदमी और एक खूबसूरत महिला रेलवे स्टेशन के वेटिंग रूम में बैठे थे।
आदमी सिगार पर सिगार पिए जा रहा था, जिससे महिला को परेशानी हो रही थी।
महिला ने नाराज होते हुए कहा, ‘अगर तुम मेरे पति होते तो मैं तुम्हारे इस सिगार में जहर भर देती!’
आदमी ने शांत भाव से उत्तर दिया, ‘अगर तुम मेरी पत्नी होती तो मैं उसे खुशी से पी जाता!’


5.लल्लूराम की तबियत ख़राब हो गयो तो डॉक्टर के पास गया…. डॉक्टर :- दारू नहीं पीनी है…!!
लल्लूराम :- डॉक्टर साहब एक पैग तो पी सकता हूँ…? डॉक्टर :- चलो ठीक है, एक पैग पी लेना..
लल्लूराम ने घर जाकर बड़े-बड़े दो पैग मारे, अगले दिन ज्यादा तबियत ख़राब हुयी तो फिर से डॉक्टर के पास आया….
डॉक्टर :- मैंने तुमको एक पैग पीने की इजाजत दी थी, तो फिर तुमने दो पैग क्यों लगाए…?
लल्लूराम :- दूसरा पैग पीने की इजाजत मैंने दुसरे डॉक्टर से ली थी

Back to top button