देश

महागठबंधन में फिर शुरु हुई खटपट, कांग्रेस की इस सांसद के विरोध में राजद

बिहार के सुपौल में महागठबंधन की प्रत्याशी और कांग्रेस सांसद रंजीता रंजन का भारी विरोध हो रहा है, यह भारी विरोध और कोई नही बल्कि महागठबंधन की बड़ी पार्टी राजद कर रही है. राजद के इस विरोध की वजह से सुपौल लोकसभा सीट की लड़ाई और दिलचस्प हो गई है. राजद के विधायक यदुवंश यादव महागठबंधन में रंजीता रंजन का खुलकर विरोध कर रहे है और यह कहने से भी गुरेज नही कर रहे है कि पार्टी अगर उनकी विधानसभा की सदस्यता भी रद्द कर देती है तो भी वो रंजीता रंजन का विरोध करते रह्रेंगे.

आपको बता दे कि रंजीता रंजन सुपौल लोकसभा सीट से कांग्रेस की टिकट पर दो बार सांसद निर्वाचित हो चुकी है. इस बार भी उनकी दावेदारी की प्रबल संभावनाएं हैं लेकिन उनकी दावेदारी के विरोध में राजद कार्यकर्ताओं ने सोमवार को अपने कार्यालय में एक आपात बैठक बुलाकर सबको चौंका दिया. जानकारी के मुताबिक़ बैठक में एक सुर में सभी नेताओं ने रंजीता रंजन और उनके पति पप्पू यादव क खिलाफ अपना विरोध जताया.

राजद विधायक यदुवंश यादव ने कहा कि यदि रंजीता रंजन को प्रत्याशी बनाया जाता है तो राजद भी उनके विरोध में अपना एक प्रत्याशी खड़ा करेगी. वहीँ पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रकाश यादव का कहना है कि सुपौल राजद जो भी निर्णय करेगी उसके साथ जिले के सभी कार्यकर्त्ता रहंगे. राजद के भूपनारायण यादव का कहना है कि 7 अक्टूबर की बैठक में ही इस बात की जानकारी दे दी गयी थी कि रंजीता रंजन किसी भी परिस्थिति में स्वीकार्य नहीं होंगी.

राजद के कार्यकर्ताओं के अनुसार रंजीता रंजन ने अपने कार्यकाल में राजद को काफी नुक्सान पहुँचाया है. विरोध कर रहे कार्यकर्ताओं के अनुसार रंजीता रंजन अपने पति पप्पू यादव की पार्टी के लोगो की मदद करती है जिसे अब कतई बर्दाश्त नही किया जाएगा.

Back to top button