लोकसभा स्पीकर ने ब्राह्मणों को ‘जन्म’ से बताया सर्वश्रेष्ठ, लोग बोले- गोडसे भी ब्राह्मण था

0
13

लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला के एक बयान ने सोशल मीडिया पर बवाल मचा दिया है. दरअसल बिड़ला ने कहा है कि समाज में ब्राह्मणों का हमेशा उच्च स्थान रहा है. यह स्थान उनकी त्याग, तपस्या का परिणाम है. यही वजह है कि ब्राह्मण समाज हमेशा से मार्गदर्शक की भूमिका में रहा है.

ओम बिरला रविवार को राजस्थान के कोटा में आयोजित अखिल ब्राह्मण महासभा की मीटिंग में मौजूद थे, जहां उन्होंने कहा, ‘‘ब्राह्मण समाज हमेशा सम्पूर्ण समाज को मार्गदर्शन देते हुए काम करता है. आज वर्तमान समय के अंदर भी, एक गांव एक धाणी में एक ब्राह्मण परिवार भी रहता है, तो वह ब्राह्मण परिवार अपने समर्पण और सेवा के कारण, उसका हमेशा उच्च स्थान होता है. और इसलिए इस समाज में पैदा होने के साथ ही, आपका सम्मान, सम्पूर्ण समाज में उच्च रूप से होता है.

ब्राह्मण महासभा में दिए इस भाषण को ओम बिरला ने ट्वीट किया है. साथ ही, फेसबुक पर भी पोस्ट किया है. उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘‘समाज में ब्राह्मणों का हमेशा से उच्च स्थान रहा है. यह स्थान उनकी त्याग, तपस्या का परिणाम है. यही वजह है कि ब्राह्मण समाज हमेशा से मार्गदर्शक की भूमिका में रहा है.’’

अब इस बात को लेकर उनकी लगातार आलोचना हो रही है. लोगों की नाराजगी इस कदर बढ़ गई है कि उनके संवैधानिक पद पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं. ब्राह्मणों को लेकर किए गए उनके इस ट्वीट पर कमेंट्स की बारिश हो गई. ये ट्वीट जैसे-जैसे वायरल होता गया लोग अपना गुस्सा जाहिर करते रहे.

https://twitter.com/Nehr_who/status/1171318309288996865

ब्राह्मण समाज को समाज का मार्गदर्शक बताने पर एक ट्विटर यूजर ने तो लिख डाला कि नाथूराम गोडसे भी ब्राह्मण ही था.