कर्नाटक LIVE: क्या CONG-JDS के PLAN-B से येदियुरप्‍पा सरकार हो जायेगी फेल …

कर्नाटक LIVE: येदियुरप्‍पा सरकार को फ्लोर टेस्‍ट में फेल करने के लिए CONG-JDS ने बनाई ये रणनीति

बीएस येदियुरप्पा को राजभवन में राज्यपाल वजूभाई वाला ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. येदियुरप्पा कर्नाटक के 25वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली.

ई दिल्ली: बीएस येदियुरप्पा को राजभवन में राज्यपाल वजूभाई वाला ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. येदियुरप्पा कर्नाटक के 25वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. यह तीसरी बार है जब येदियुरप्पा को कर्नाटक के मुख्यमंत्री की कुर्सी मिली है. उनके स्वागत के लिए राजभवन के बाहर ज़बरदस्त तैयारियां की गई. जगह-जगह ढोल-नगाड़े बज रहे थे. आज सिर्फ येदियुरप्पा ने ही शपथ ली. मंत्रिमंडल का शपथग्रहण विधानसभा में फ़्लोर टेस्ट के बाद होगा. वहीं इससे पहले कर्नाटक का नाटक सुप्रीम कोर्ट में रात भी चला. सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस की शपथ को टालने की मांग मानने से इनकार कर दिया है. कोर्ट ने फ़ैसले में कहा कि वो राज्यपाल को आदेश नहीं दे सकते और शपथ पर रोक नहीं लगाई जा सकती

कर्नाटक में जारी है सियासी घमासान 

– बेंगलुरु में जिस रिसॉर्ट में कांग्रेस के विधायक रुके हैं, उसके बाहर से सुरक्षा हटाये जाने को लेकर कांग्रेस नेता केएच मुनियप्‍पा ने नाराजगी जाहिर की है. मुनियप्‍पा ने कहा, ‘यह कोई तरीका नहीं है. चाहे कोई भी सरकार हो उसकी यह जिम्‍मेवारी है कि वह चुने हुए प्रतिनिधियों को सुरक्षा मुहैया कराए.’

– कांग्रेस का दावा, बी एस येदियुरप्पा एक दिन के मुख्यमंत्री, उनके पास बहुमत साबित करने के लिए संख्याबल नहीं. कर्नाटक के राज्यपाल ने भाजपा को सरकार के गठन के लिए आमंत्रित कर और येदियुरप्पा को शपथ लेने की मंजूरी देकर दो बार संविधान ‘मुठभेड़’ में हत्या की.

– कांग्रेस प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘कर्नाटक के राज्‍यपाल ने लोकतंत्र की हत्‍या की और मोदी जी के वजूद को संविधान के ऊपर तरजीह दी. सुरजेवाला ने कहा कि कर्नाटक के राज्‍यपाल ने संविधान का एनकाउंटर किया है.

– भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार को कर्नाटक के मुख्यमंत्री के रूप में बी एस येदियुरप्पा के शपथ लेने को ‘कर्नाटक के प्रत्येक लोगों’ की जीत बताया जिन्होंने कांग्रेस की भ्रष्ट और विभाजनकारी राजनीति को समाप्त करने के लिये वोट दिया.

– कर्नाटक में बी एस येदियुरप्पा के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने गुरुवार को कहा कि येदियुरप्पा द्वारा राज्यपाल को दिया पत्र ही उनकी किस्मत का फैसला कर देगा क्योंकि इसमें 104 से ज्यादा विधायकों के समर्थन की बात शामिल नहीं है.

– बी एस येदियुरप्‍पा ने आज सीएम पद की शपथ ले ली है लेकिन राज्‍यपाल ने उन्‍हे बहुमत साबित करने के लिए 15 दिनों का समय दिया है. ऐसे में विधायकों की ख़रीद-फ़रोख़्त की संभावना बढ़ गई है. अपने विधायकों को इस जोड़-तोड़ से बचाने के लिए कांग्रेस और जेडीएस अपने सभी विधायकों को केरल ले जा रही है.

– हम सभी ने देखा कि प्रधानमंत्री मोदी ने तमिलनाडु में गवर्नर के कार्यालय का दुरुपयोग कैसे किया. कर्नाटक में भी यही किया गया है. यह पूरी तरह से लोकतंत्र और कानून के शासन के खिलाफ है. हम इसकी निंदा करते हैं: डीएमके नेता एमके स्टालिन

– विधानसभा के बाहर धरने प्रदर्शन के बाद ईगलटन रिज़ॉर्ट वापस पहुंचे कांग्रेस विधायक

मायावती ने साधा मोदी सरकार पर निशाना

– बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि जब से बीजेपी सत्ता में आई है तब बाबा साहेब अम्बेडकर द्वारा तैयार किए गए संविधान को नष्ट करने की साजिश कर रही है. उन्‍होंने कहा कि वह सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर लोकतंत्र पर हमला कर रही है.

– बीजेपी नेता श्रीरामुलु ने कहा, निर्दलीय विधायक हमारे संपर्क में हैं, काम हो जाएगा.

karnataka

– एक निर्दलीय विधायक आर शंकर कांग्रेस-जेडीएस कैंप में लौट गए. इस वक़्त वो इनके धरने में शामिल हैं. कल बीजेपी ने दावा किया था कि आर शंकर ने बीजेपी को समर्थन की चिट्ठी दी है. दूसरे निर्दलीय विधायक एच नागेश भी इनके साथ ही हैं.

– सीएम पद की शपथ लेने के बाद बीएस येदियुरप्‍पा ने कहा कि तीसरी बार मुख्यमंत्री पद संभालने के लिए मैं लोगों को बधाई देता हूं. मुझे खेद है कि कांग्रेस और जेडीएस ने एक अपवित्र गठबंधन बनाया. उन्‍होंने कहा कि मैं सभी 224 विधायकों का समर्थन चाहता हूं. मुझे यकीन है कि वे अपने विवेक के अनुसार मतदान करेंगे. यह मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है इसलिए मैं इस मुद्दे पर चर्चा नहीं करना चाहता हूं. मुझे विश्वास है कि विश्‍वास मत हासिल करूंगा और पांच साल सरकार चलाऊंगा.

– शिवसेना के संजय राउत ने कहा कि बीएस येदियुरप्पा ने शपथ ली है लेकिन बहुमत साबित करना मुश्किल होगा. राज्यपाल को उन लोगों को बुलाया जाना चाहिए जिनके पास अधिकतम संख्या थी. जब ऐसा होता है तो लोग कहते हैं लोकतंत्र की हत्‍या हो गई, लेकिन जब देश में लोकतंत्र बचा ही नहीं तो हत्‍या किसकी होगी.