धर्म

अगर आपकी हथेलियों पर भी बनता है आधा चांद, तो जानिये इसका पूरा मतलब

हस्त रेखा शास्त्र  को  बहुत लोग मानने लगे हैं और आज उच्च शिक्षण संस्थानों में हस्तरेखा विज्ञान को लेकर  तमाम तरह की डिग्रियां भी आबन्टित की जा रही है और इसे पढाया जा रहा है . और इस कारण से  हस्तरेखा विज्ञान का महत्व भी धीरे धीरे बढ़ता जा रहा है. लोगों का इस विज्ञान में विश्वास बढ़ता जा रहा है. गौर करें, . इस पोस्ट के माध्यम से  हमारा मकसद किसी तरह का अंधविश्वास य भ्रम फैलाना नहीं है बल्कि हस्त रेखा  विज्ञान  की जानकारी देना है .
कई धर्मों के पौराणिक ग्रंथों में भी हस्तरेखा एवं उस के फलाफल का महत्व मिलता है .  हाथ देख कर, हस्त रेखा पढ कर भविष्य से जुड़ी हुई एवं और जीवन से जुडी हुई कई तरह की बातें जानी जा सकती हैं. आप जो हाथ की तस्वीर देख रहे हैं  उसमें एक ह्रुदय रेखा  दिखाई गई है. ये ह्रुदय रेखा आपकी कनिष्क ऊंगली से लेकर अनमिका  और  मध्यमा ऊंगली से आगे जा कर  खत्म होती है, ये आपके भविष्य के बारे बताती है.कई लोगों की हथेली पे आधा चांद बनता है, बिल्कुल फोटो की तरह

अगर ये अर्ध चंद्र बनती है तो इस से पता चलता है की आप चार्मिंग हैं और आप बचपन के अपने दोस्तों के साथ दोस्ती बरकरार रखने वाले इंसान है और हमेशा उन का साथ निभाने की कोशिश करते हैं . अमूमन ऐसे लोग दिमाग के चुस्त होते हैं और हर तरह के परिस्थितियों से इनको निपटना आता है.

आपकी हाथों में अगर इस तरह की रेखाएं हैं, यानि की बहुत कम रेखाएं होने के साथ-साथ सीधी रेखाएं हैं, तो इस क अर्थ है की आप बहुत ही शांत और साफ़ दिल वाले इंसान हैं.

और अगर आप के हाथों मैं , हथेलियों पर उलट-पुलट रेखाएं बनी  हैं तो तो आपको  बुजुर्गों क सम्मान करते हैं और अपने बुजुर्गों के साथ रहना ज़्यादा पसंद करते हैं

हस्तरेखा विज्ञान कहती है की आपका भविष्य आपके ही हाथों में  है. आप मेहनत करते जाईये, आप की हाथों की रेखाएं बदलती जायेंगी.

Back to top button