देश

नीतीश पर लालू का नया अटैक, सुशासन बाबू को बताया ‘बंदर’, जानिए क्यों ?

लालू प्रसाद यादव की किताब को लेकर शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. लालू प्रसाद यादव की इस किताब में नीतीश कुमार के लिए बंदर शब्द का इस्तेमाल किया गया है. कहते हैं इतिहास अपने आप को दोहराता है. एक वक्त था जब लालू बिहार के मुख्यमंत्री थे और एक मैगजीन ने उनके ऊपर कवर स्टोरी छापते हुए लिखा था ‘बंदर के हाथ में बिहार.’

अब लालू प्रसाद यादव ने अपनी किताब ‘गोपालगंज टू रायसिना’ में सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए बंदर शब्द का इस्तेमाल कर दिया है. लालू के नीतीश के लिए बंदर शब्द का इस्तेमाल करना जेडीयू को रास नहीं आया और उनहोंने इस पर अपनी कड़ी आपत्ति जताई है.

नीतीश कुमार ने एनडीए से नाता तोड़ने के बाद लालू प्रसाद यादव से नाता जोड़ा था, फिर लालू यादव के महागठबंधन से नाता तोड़कर वे एनडीए में चले गए थे. लालू प्रसाद यादव ने इसी वजह से नीतीश कुमार का नाम पलटूराम रख दिया था. इस किताब में नीतीश कुमार की इस आवाजाही को बंदर की संज्ञा दी गई है.

इससे पहले विवाद उस बात से खड़ा हुआ था, जिसमें लालू ने अपनी किताब में दावा किया था कि महागठबंधन टूटने के बाद नीतीश कुमार ने खुद और अपने सिपहसालार प्रशांत किशोर के माध्यम से महागठबंधन में वापस आने की कई कोशिशें की थी.

 

Back to top button