बिजी शेड्यूल पर बोले कोहली- जल्द ही मैच खेलने को सीधे स्टेडियम में प्लेयर्स होंगे लैंड

0
24

टीम इंडिया के लगातार क्रिकेट खेलने पर कप्तान विराट कोहली ने गुरुवार को चिंता जाहिर की। कोहली ने कहा कि वह दिन ज्यादा दूर नहीं है, जब खिलाड़ी सीधे स्टेडियम में लैंड करेंगे और मैच खेलेंगे। भारत ने 4 दिन पहले ही 19 जनवरी को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज खत्म की है और अब 24 जनवरी को ही उसे न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 मैच खेलना है। 2019 वर्ल्डकप के सेमीफाइनल में हार के बाद टीम इंडिया पहली बार न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच खेलेगी।

कोहली ऑकलैंड में पहले टी-20 मैच से पहले मीडिया से बात कर रहे थे। ऑस्ट्रेलिया सीरीज के बाद बेहद कम समय में न्यूजीलैंड दौरे पर आने पर कोहली ने कहा- यह दिखाता है कि खेल में दबाव किस तरह का हो गया है। मैं सोचता हूं ऐसी यात्राएं और ऐसी जगह पर आना जो टाइम जोन में भारत से 7 घंटे आगे हो, हमेशा ही इन परिस्थितियों में तुरंत ढलना मुश्किल होता है।

आज का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट यही है- कोहली

  • कोहली ने कहा- मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि इन सारी बातों को भी भविष्य में ध्यान रखा जाएगा। लेकिन, जो है.. सो तो है। आपको दोबारा मैदान पर उतरने के लिए खुद को बेहतर करने के लिए जो भी कर सकते हैं, करना होगा। आज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट यही है। यह लगातार होती है।
  • “ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी सीरीज में हमने वनडे मैच खेले। ऐसे में हमने मैदान पर ज्यादा वक्त बिताया। लेकिन, हमने इससे पहले कुछ टी-20 भी खेले।”
  • भारतीय कप्तान ने कहा- केवल टी-20 के अलावा भी हमने काफी क्रिकेट खेली। ऐसे में हम लोगों के लिए यह आसान है कि न्यूजीलैंड में कम वक्त में भी हम खेलने के लिए तैयार रहें। हम इस सीरीज को लेकर काफी उत्साहित हैं। इस साल वर्ल्डकप खेला जाना है और हर टी-20 महत्वपूर्ण है।
  • उन्होंने कहा, “दूसरे देशों की अपेक्षा न्यूजीलैंड का दौरा काफी आरामदायक रहता है। हर दौरा हमें यह बताता कि लोग खेल को किस तरह से देखते हैं। न्यूजीलैंड में खेल को एक जॉब की तरह देखा जाता है, जिसे खिलाड़ी पूरा करते हैं।”

न्यूजीलैंड से बदले के बारे में सोच भी नहीं सकता, ये बहुत अच्छे हैं- कोहली

2019 वर्ल्डकप में न्यूजीलैंड से सेमीफाइनल में मिली हार पर कोहली ने कहा- न्यूजीलैंड से बदला लेने के बारे में सोच भी नहीं सकता। अगर आप बदले के बारे में सोचना भी चाहते हैं तो ये लोग इतने अच्छे हैं कि आप ऐसा नहीं कर पाएंगे। यह केवल मैदान पर प्रतिस्पर्धी रहने के बारे में है। जैसा कि मैंने इंग्लैंड में कहा था कि न्यूजीलैंड निश्चित तौर पर वह टीम है, जो अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाली टीमों के लिए मिसाल तय करती है।