Breaking News
Home / धर्म / बुधवार के दिन बेटियों को नहीं भेजना चाहिए ससुराल, जानिए क्यों ?

बुधवार के दिन बेटियों को नहीं भेजना चाहिए ससुराल, जानिए क्यों ?

धार्मिक शास्त्रों और इतिहास के पन्नो में कुछ ऐसी कहानियां और जानकारियां मौजूद है, जो आज के लोग शायद बिलकुल नहीं जानते. इसलिए आज हम आपको ऐसी ही कुछ विशेष बातो से रूबरू करवाना चाहते है, जिनका धार्मिक शास्त्रों में बहुत महत्व है. कहते है, कि जब इंसान किसी मंजिल तक पहुँचने के लिए घर से बाहर यात्रा पर जाता है और ऐसे में उसकी यात्रा सुखद रूप से पूरी हो जाएँ तो उसे अपने कार्य में सफलता जरूर मिलती है. वही इसके विपरीत यदि यात्रा के दौरान यातनाओ का सामना करना पड़े तो व्यक्ति हमेशा यही सोचता है, कि उसकी यह यात्रा जीवन की किसी यातना से कम नहीं थी.

इसका सबसे बड़ा कारण ये है, कि हम घर से बाहर जाते समय या कही भी यात्रा करते समय शकुन या दिशा शूल का विचार नहीं करते. जिसके चलते कभी हमारी यात्रा सफल होती है तो कभी हमें असफलता भी सहन करनी पड़ती है. हालांकि यात्रा सफल ही होगी इसका कोई प्रमाण नहीं होता. गौरतलब है, कि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बुधवार को लेकर भी ऐसी ही एक मान्यता सामने आयी है. जिसके बारे में आपका जानना बेहद जरुरी है.

जी हां दरअसल ऐसा माना जाता है, कि बुधवार के दिन न तो यात्रा करनी चाहिए और न बेटियों को घर से विदा करना चाहिए. वो इसलिए क्यूकि यदि बुधवार को बेटियों को विदा किया जाए या कही यात्रा के लिए बाहर जाया जाए तो शास्त्रो के अनुसार इसका परिणाम बुरा भी हो सकता है या यूँ कहा जाएँ कि इसका परिणाम अशुभ हो सकता है.

इसके इलावा इस प्रथा के पीछे एक कथा भी प्रसिद्ध है. इस कथा के अनुसार बुध चंद्र को अपना शत्रु मानता है, पर चंद्र बुध को अपना शत्रु नहीं मानता. बता दे कि ज्योतिष में चंद्र को यात्रा का कारक माना जाता है और वही बुध को आय या बिज़नेस का कारक माना जाता है. शायद इसलिए बुधवार के दिन किसी भी प्रकार की व्यावसायिक यात्रा करने पर नुकसान होता ही है. यहाँ तक कि यदि बुध खराब दिशा में हो तो किसी भी तरह की दुर्घटना होने की सम्भावना भी रहती है. इसलिए ऐसी मान्यता है कि बुधवार के दिन बेटियों को कभी ससुराल नहीं भेजना चाहिए.

इसके साथ ही ऐसे कई कार्य है, जिन्हे अगर बुधवार के दिन किया जाएँ तो इससे व्यक्ति की बुद्धि भी घटती है. इन कार्यो को इस दिन करने से व्यक्ति के शत्रु बढ़ते है, ससुराल से संबंध खराब होते है और पराक्रम में भी कमी आती है. तो चलिए अब आपको बताते है, कि इन समस्याओ से बचने के लिए आपको बुधवार के दिन कौन कौन से कार्य नहीं करने चाहिए.

गौरतलब है, कि बुधवार के दिन पान नहीं खाना चाहिए. इसके इलावा दूध को जलाने का काम जैसे गजरेला, खीर, रबड़ी आदि बनाने का काम नहीं करना चाहिए. इसके साथ ही इस दिन किसी कन्या का अपमान नहीं करना चाहिए. यहाँ तक कि अगर इस दिन कोई छोटी सी कन्या मिल जाएँ तो उसे उपहार या भेंट स्वरूप पैसे भी दे सकते है.

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com