शादी का झांसा देकर बहला ली नाबालिग, फिर दोनों ने मिलकर किया पाप

0
46

ये खबर मध्य प्रदेश के सतना जिले से है। यहां के रामपुर बाघेलान थाना क्षेत्र से नाबालिग को अगवा कर बंधक बनाने और सामूहिक दुष्कर्म करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। 4 जनवरी को 14 वर्षीय किशोरी अपने घर से  लापता हो गई थी, जिसके परिजनों की शिकायत पर अपहरण का मुकदमा दर्ज कर तलाश शुरू की गई। इसी दौरान 14 जनवरी को लड़की अचानक वापस आ गई तो माता-पिता उसे लेकर थाने आ गए, जहां उसने अपहरण से लेकर घर लौटने तक की आपबीती बताई।

पीडि़ता ने पुलिस को बताया कि 26 वर्षीय मनीष गुप्ता पुत्र रामाधार गुप्ता से उसकी जान-पहचान थी। आरोपी ने पहले दोस्ती की और फिर शादी का वादा किया तो उसकी बातों में आ गई। आरोपी के बहकावे में आकर 4 तारीख को घर से भागकर प्रमोद रावत पुत्र गणेश रावत 20 वर्ष के साथ गांव से दूर रेलवे क्रॉसिंग तक आई, जहां आरोपी मनीष बाइक लेकर खड़ा था।

वहां से तीनों लोग सतना आए और मुख्य आरोपी की बुआ के घर पर रूके। फिर बस में बैठकर मैहर पहुंचे और वहां से ट्रेन पकड़कर हैदराबाद चले गए। आरोपियों ने शहर में किराए पर कमरा लेकर बारी-बारी से दुष्कर्म किया, यह सिलसिला एक हफ्ते तक चलता रहा। इसी बीच मौका पाकर पीडि़ता भाग निकली और लोगों से मदद लेते हुए घर वापस आ गई।

पीछे-पीछे आरोपी भी आए, लेकिन  उस तक नहीं पहुंच पाए। पीडि़ता के बयान पर आईपीसी की धरा 363 के साथ धारा 366, 376(3), 376डीए के अलावा पॉक्सो एक्ट की धारा 5जी /6 और एससी-एसटी एक्ट के तहत कायमी की गई। दोनों आरोपियों को मुखबिर की सूचना पर शुक्रवार सुबह गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।