जरा हट के

गाड़ी चलाते पिता को आ गया हार्ट अटैक, बेटे ने दिखाई ये समझदारी, टाल दिया एक और हादसा

कहते है की अच्छे लोगों को भगवान बहुत जल्दी अपने पास बुला लेता है, और यह बात भी सच है की दुनिया छोड़ जाने के बाद हर कोई एक अच्छा इंसान बन जाता है. क्योंकि लोग उसकी अच्छाई को हमेशा याद करते हैं. आज हम एक ऐसे बच्चे और उसके पिता के बारें में बता रहे है. उस बच्चे ने इतनी हिम्मत दिखाई की अपनी जान भी बचा ली और सामने आने वाले अनेक लोगों की भी जान बचा ली, आइये जानते है.

शिवकुमार और उनका 10 साल का बच्चा प्रेशर कुकर की डिलवरी करने कही जा रहे थे. शिव कुमार ने करीब 94 किलोमीटर कार चलाई और उसके बाद अचानक उनके सिने में दर्द हुआ और वो चल बसे, ऐसे में गाड़ी चल रही थी और 10 साल के बच्चे ने जैसे तैसे गाड़ी को संभाला और साइड में खड़ा करके उसके बाद अपने पिता को संभाला तो उनकी मौत हो चुकी थी.

पिता के साथ ऐसा होने के बाद यदि बच्चा समझधारी नहीं दिखाता तो शायद उसके साथ बहुत बड़ा हादसा भी हो सकता था पर वो अपनी जान बचाने में कामयाब हुआ. हालांकि इस घटना में उसके पिता की मौत हो गई थी.

रोड किनारे गाड़ी रोक कर अपने पिता के लिए बेटा रोने लग गया था. 10 साल की उम्र में उसे बहुत समझ थी शायद उसे पता चल गया था की उसके पिता अब इस दुनिया में नहीं रहे हैं.

 

Back to top button