देशराजनीति

कांग्रेस से गठबंधन को तैयार कमल हासन, लेकिन एक शर्त भी है

Related image

2019 लोकसभा चुनाव से पहले बड़ी खबर आ रही है बताते चले साउथ के सुपर स्टार अभिनेता से दिग्गज राजनेता बने कमल हासन तमिलनाडु में कांग्रेस से कंधे से कन्धा मिलाने को तैयार हैं। मगर इसके लिए  उन्होंने एक जरूरी शर्त रखी है। उन्होंने कहा है कि उनकी पार्टी मक्कल निधि मय्यम (एमएनएम) आगामी 2019 लोकसभा चुनावों में कांग्रेस से गठबंधन करने को तैयार है, लेकिन उससे पहले कांग्रेस को द्रमुक (डीएमके) के साथ गठबंधन तोड़ना होगा।

बता दें कि कमल हासन ने इसी साल फरवरी महीने में अपनी पार्टी मक्कल निधि मय्यम (एमएनएम) का गठन किया था और उसके बाद से वो लगातार तमिलनाडु सरकार और केंद्र सरकार पर हमलावर रहे हैं।

Kamal Haasan-Rahul Gandhi

एक स्थानीय चैनल को दिए साक्षात्कार में कमल हासन ने कहा कि अगर डीएमके और कांग्रेस का गठबंधन टूट जाता है, तो मैं 2019 के चुनावों में कांग्रेस के साथ हाथ मिलाने को तैयार हो जाऊंगा। उन्होंने कहा कि इसके अलावा कांग्रेस को उन्हें एक वचन भी देना होगा कि एमएनएम और कांग्रेस का गठबंधन तमिलनाडु के लोगों को हमेशा लाभ पहुंचाएगा।

गौरतलब है कि कांग्रेस के प्रति कमल हासन का ये ‘प्यार’ कोई आश्चर्यजनक बात नहीं है। इसी साल जून महीने में तमिलनाडु की राजनीतिक स्थिति पर चर्चा के लिए उन्होंने दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी, जिसके बाद उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा था ‘हमने तमिलनाडु की राजनीति पर चर्चा की, लेकिन जिस तरह आप सोच रहे हैं, उस तरह से नहीं।’

बता दें कि यह पहली बार है कि कमल हासन ने द्रमुक (डीएमके) के खिलाफ सार्वजनिक रूप से कोई बात कही हो। इस साल की शुरुआत में द्रमुक और उसके सहयोगी दलों ने कमल हासन को अपनी तरफ झुकाने की कोशिश की थी, जब उन्होंने कावेरी मुद्दे पर उनके द्वारा प्रस्तावित सभी तरह की पार्टी बैठकों में भाग न लेने का फैसला किया था।

उन्होंने कहा कि एमएनएम का उद्देश्य भ्रष्टाचार से लड़ना है। मैं किसी भी ऐसी पार्टी के साथ हाथ नहीं मिलाउंगा जो भ्रष्ट है। उन्होंने कहा कि द्रमुक और एआईएडीएमके दोनों पार्टियां भ्रष्ट हैं। तमिलनाडु से इन दोनों पार्टियों को हटाने के लिए हम कड़ी मेहनत करेंगे।

 

Back to top button