Breaking News
Home / ख़बर / क्राइम / कलयुगी पत्नी ने प्रेमी संग मिलकर पति को उतारा मौत के घाट, छोटी बहन ने भी दिया भरपूर साथ

कलयुगी पत्नी ने प्रेमी संग मिलकर पति को उतारा मौत के घाट, छोटी बहन ने भी दिया भरपूर साथ

कोटा में प्रेम प्रसंग के चलते उद्योग नगर थाना क्षेत्र के प्रेम नगर अफोर्डेबल योजना में शनिवार देर रात एक युवक की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। पुलिस ने मामले में गंभीरता से कार्रवाई करते हुए वारदात के 12 घंटे बाद ही मामले का खुलासा कर दिया। युवक की हत्या के आरोपित पत्नी व उसके प्रेमी सहित एक नाबालिग बालिका को गिरफ्तार किया है।

जानकारी के अनुसार सीसवाली थाना क्षेत्र के इस तिसाया गांव निवासी महावीर बैरवा (30) पुत्र लटूरलाल हाल निवासी उद्योग नगर थाना क्षेत्र के प्रेमनगर अफोर्डेबल आवासीय योजना के ब्लॉक ए में चतुर्थ तल पर कमरा नंबर 367 में पत्नी यशोदा (28) व 7 वर्षीय बालिका रोनिका और 5 वर्षीय पुत्र प्रीतम के साथ रहता था। महावीर बैरवा सेल्समैन का कार्य करता था। देर रात को युवक की चाकू से गोदकर हत्या करने की सूचना लगने पर प्रशिक्षु आईपीएस अमृता दुहन सहित आला पुलिस अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर जांच शुरू की।
मृतक युवक के शव को एमबीएस अस्पताल की मोर्चरी में शिफ्ट करवाया गया। जहां परिजनों के आने के बाद रविवार सुबह मृतक युवक के शव का पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया गया।

पत्नी ने बहन वह प्रेमी के साथ मिलकर के पति की हत्या:

प्रेम नगर अफोर्डेबल योजना में युवक की हत्या के मामले में पत्नी का अवैध संबंध होना सामने आ रहा है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश मील ने घटना स्थल का निरक्षण किया। यहां पर लाल मिर्च पावडर बिखरा हुआ था। पुलिस जांच में म्रतक की पत्नी व साली पर शक होने पर उन्हें थाने लेजाकर अलग-अलग पूछताछ की गई। गहनता से पूछताछ करने पर मामले का खुलासा हुआ जिसमे सामने आया कि म्रतक महावीर बैरवा की पत्नी की यशोधा का ओमप्रकाश (23) पुत्र द्वारिकालाल निवासी जिला बारां तहसील अंता रायपुरा से 4 साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। जिसकी जानकारी मृतक की साली को भी था। पत्नी के प्रेम प्रसंग की जानकारी लगने पर पति महावीर यशोदा पर निगरानी रखने लगा। जिससे ओमप्रकाश ओर यशोधा के मिलने में अड़चन बनने से तीनों ने मिलकर महावीर को रास्ते से हटाने का षड्यंत्र रचा। घटना के दौरान म्रतक की साली ने रसोई से लाल मिर्च लाकर जीजा की आंखों डाली जिसके बाद ओमप्रकाश बैरवा व यशोदा ने युवक पर चाकुओ से हमला कर दिया।

इस दौरान यशोदा की उंगली महावीर के मुह में आने से महावीर ने मरने से पहले पत्नी यशोदा की उंगली चबा दी। वारदात को अंजाम देने के बाद ओमप्रकाश मोके से फरार हो गया। पत्नी ने रचा लूट का नाटक: प्रशिक्षु आईपीएस अमृता दुहन ने बताया कि घटना के बाद पत्नी यशोदा ने पुलिस व परिजनों को गुमराह करने के लिए हत्या ओर लूट की वारदात का नाटक रचा। पुलिस पूछताछ में महिला ने अपने बयानों में बताया कि महावीर एक दिन पहले कुसी से 10 हजार रुपये लेकर आया था। रात को घर आने के बाद तीन अज्ञात युवक घर मे घुसे ओर दोनों बहनों के गले पर चाकू लगाकर पति महावीर की हत्या कर दी। वारदात के बाद अज्ञात युवको ने 1घर मे रखे 18 हजार रुपये ओर उसका मंगलसूत्र अपने साथ ले गए। आरोपी ओमप्रकाश भी अफोर्डेबल योजना में किराए से कमरा लेकर रहा रहा था: म्रतक महावीर की पत्नी का प्रेमी ओमप्रकाश भी प्रेम नगर तृतीय आवासीय योजना में कमरा किराए से लेकर रहा रहा था। वारदात के बाद आरोपी युवक अपने कमरे में जाकर घुस गया। आरोपी की तलाश के लिए उसके मोबाइल की लोकेशन ट्रेस की गई। जिसके बाद आरोपी युवक ओमप्रकाश को प्रेमनगर अफोर्डेबल योजना से गिरफ्तार किया गया।

10 दिन पहले ही छोटी बहन यशोदा से मिलने आई थी कोटा:

उद्योग नगर थानाधिकार मुनेंद्र सिंह ने बताया कि मृतक युवक के ससुर मथुरा लाल की चार बेटियों में सबसे बड़ी बेटी यशोदा की शादी 10 साल पहले सीसवाली थाना क्षेत्र के तिसाया गांव निवासी महावीर बेरवा से हुई थी। शादी के बाद महावीर बैरवा अपने पत्नी व बच्चों के साथ कोटा के प्रेमनगर अफोर्डेबल योजना में रहा रहा था। दस दिन पहले ही यशोदा की छोटी बहन उससे मिलने कोटा आई थी।

पत्नी ने दी फोन करके पुलिस अपने पिता को सूचना:

प्रशिक्षु आईपीएस अम्रता दुहन ने बताया कि मृतक महावीर बैरवा की पत्नी यशोदा बाई ने युवक की हत्या करने के बाद इसकी सूचना अपने पिता मथुरालाल को फोन पर दी। जिसके बाद कंट्रोल रूम पर सूचना देकर पुलिस को सूचित किया। घटना की जानकारी लगने पर महिला के पिता मथुरालाल ने इसकी सूचना मृतक महावीर प्रसाद के पिता को दी। जिसके बाद दोनों परिजन कोटा पहुंचे। वहीं पुलिस को जानकारी लगने पर वह भी मौके पर पहुंचकर जांच शुरू की। बेटे के जन्मदिन पर 14 अप्रैल को परिवार से गांव जाने वाला था म्रतक युवक: मृतक महावीर बैरवा के पिता लटूरलाल ने बताया कि एक दिन पहले ही उसकी महावीर से बात हुई थी। जिसमें उसने 14 अगस्त बेटे प्रीतम का जन्मदिन पर गांव आने की बात कही थी। लटूरलाल ने बताया कि उसका छोटा बेटा रघुवीर भी प्रेमनगर अफोर्डेबल योजना के बी ब्लॉक में रहता है और कोटा में रहकर डिस्पेंसरी चलाता है। लेकिन कुछ समय से उसकी तबीयत खराब होने के चलते वह गांव में ही था। बहू के अवैध संबंधों के बारे में परिवार में किसी को भी जानकारी नहीं थी।

इनको किया गिरिफ्तार:

शहर पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव ने बताया कि प्रेम नगर अफोर्डेबल योजना में युवक की हत्या के के मामले में जल्द खुलासे को लेकर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश मेल प्रशिक्षु आईपीएस अमृता दो के निर्देशन में उद्योग नगर थाना अधिकारी मुनेंद्र सिंह के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया जिन्होंने घटना के 12 घंटे के अंदर हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपी में ओम प्रकाश (23) पुत्र द्वारिका लाल बेरवा निवासी रायपुरा थाना अंता जिला बारा हाल निवासी किराएदार प्रेम नगर तृतीय, यशोदा (24) पत्नी महावीर प्रसाद बेरवा व विधि से संघर्षरत बालिका को विरुद्ध किया गया। बालिका को किशोर नए बोर्ड के समक्ष पेश किया जाएगा। वही दोनों आरोपियों को पूछताछ के बाद सोमवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com