डॉक्टर, इंजीनियर… नहीं ये महिला अपने बच्चे को बनाना चाहती है ‘आतंकवादी’, वजह जानकर रह जाएंगे दंग

आतंकवाद वर्तमान समय में भयंकर विश्वव्यापी समस्या बन गया है. यह समस्या न केवल भारत में ही अपनी पकड़ मजबूत किये हुये है बल्कि अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर भी यह समस्या विकराल रूप धारण कर रही है .आतंकवाद भारत की प्रमुख सबसे बड़ी समस्या है, जिसने भारतीय शासन-व्यवस्था को जर्जर कर दिया है . आतंकवाद ने भारत की आर्थिक, सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक, सांस्कृतिक आदि परिस्थितियों को प्रभावित किया है .

आतंकवादी बनाना चाहती है अपने बच्चों को

आतंकवाद सभ्य समाज और मानवता के लिए एक कलंक है .दुनिया का हर एक इंसान आतंकवाद से त्रस्त है ,मुक्ति चाहता है. मगर आज हम आपको एक ऐसी माँ के बारे में बताने जा रहे हैं जो नाकि आतंकवाद को बढ़ावा देने का काम कर रही है बल्कि वो अपने बच्चों को भी आतंकवादी बनाने का सपना देख रही है. वो महिला अपने बच्चों को एक सफल आतंकवादी बनाने के मकसद से उन्हें ISIS जैसे खूंकार आतंकी संगठन में भी भेजना चाहती है. भारत के लिहाज से ये खबर और बुरी इसलिए भी है क्यूंकि वो महिला एक भारतीय है. मगर सभी की तरह आपके मन में भी ये सवाल कौंध रहा होगा कि आखिर क्या वजह है जो वो भारतीय महिला इतनी दरिंदगी फैलाना चाहती है.

कौन है जोया चौधरी

दरअसल, जोया चौधरी बंगाल की रहने वाली है और उसका सपना है कि उसके बच्चे खुखार आतंकवादी संगठन ISIS में भर्ती हों. रिपोर्ट के मुताबिक साल 2004 में जोया चौधरी ने अमेरिका के रहने वाले जॉन जॉर्जेलस नाम के शख्स से शादी की थी. दोनों कि मुलाकात एक ऑनलाइन वेबसाइट के जरिए हुई. जब इन दोनों में बातचीत शुरु हुई उस वक्त तक जॉन ने इस्लाम धर्म कबूल कर लिया था. इस्लाम धर्म कबूल करने के बाद जॉन ने अपना नाम भी बदलकर याह्या अबू हसन रख लिया. गौरतलब है कि जॉन के पिता अमेरिकी वायु सेना में डॉक्टर के रूप में कार्य करते थे.

advt

 

एक आतंकवादी से कर ली शादी

सोचने वाली बात ये हैं कि अमेरिका पर हुए 9/11 के हमलों के बाद जॉन में ISIS  में भर्ती होने का ख्याल आया, यानि उस वक्त वो इस्लाम और आतंकवाद से प्रभावित हुआ. इसके बाद जॉन ने अपनी टेक्सास कॉलेज में पढ़ाई के दौरान ही अपने दोस्तों को छोड़कर मुस्लिम छात्रों के ग्रुप के साथ रहने और घुमने लगा. एक मुस्लिम डेटिंग वेबसाइट पर साल 2003 में जॉन की मुलाकात भारत की रहने वाली जोया चौधरी से हुई और दोनों ने साल 2004 शादी कर ली. एक भारतीय लड़की का इस तरह का कदम उठाना वो भी ये जानते हुए कि जॉन या याह्या अबू हसन खुखार आतंकवादी संगठन आईएसआईएस में भर्ती होना चाहता है, वाकई में चिंता वाली बात है.

जोया है कट्टरपंथी इस्लाम की प्रचारक

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि आज जॉन उर्फ याह्या अबू हसन आईएसआईएस का आतंकी है. याह्या अबू हसन आईएसआईएस की ओर से इराक और सीरिया के आतंकवादी समूह में नए युवाओं को जोड़ने का काम करता है और कई घटनाओं में शामिल है. जोय अब अमेरिका में रहती है और जोया चौधरी एवं जॉन पर कट्टरपंथी इस्लाम का प्रचार करने का आरोप लग चुका है. खबर के मुताबिक जॉन काफी दिनों से अमेरिकी एंजेसियों को चकमा दे रहा है और वह इंटरनेट होस्टिंग कंपनी डलास में काम करते हुए ऑनलाइन तरीकों से अल-कायदा समर्थकों को एकजुट कर रहा है.