खेत में रुके, खुले में चारपाई पर सोए, दिल जीतना तो कोई इस नेता से सीखे

0
9
सिरोही/जालोर ।  डिप्टी सीएम सचिन पायलट का रविवार रात मारवाड़ में ठेठ देसी अंदाज दिखा। दो दिन के मारवाड़ दौरे पर आए पायलट ने रात जालोर जिले के सांचौर के समीप कासेला गांव में एक किसान की तरह बिताई। वे खेत में खुले आसमान के नीचे चारपाई पर सोए। पायलट ने अपने पुराने मित्र जयकिशन विश्नोई के साथ खेत में बैठकर ही खाना खाया। दो साल पहले सचिन पायलट ने जालोर दौरे के दौरान जयकिशन विश्नोई के इसी खेत में रात बिताई थी।
पायलट ने उस समय जयकिशन से वादा किया था कि वह दोबारा उनके खेतों में आएंगे। पायलट ने रविवार रात अपने मारवाड़ दौरे के दौरान उस वादे को पूरा किया। पायलट का यह देसी अंदाज सभी को पसंद आया। डिप्टी सीएम पायलट दो दिवसीय सिरोही, जालोर और पाली दौरे पर हैं। अपने दौरे के दौरान पायलट रविवार को पूरे दिन एक्शन में रहे। पायलट ने दिन में विभागीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे आमजन के कार्यों को जल्द पूरा करें। इसके बाद शाम को पायलट ने खेत में किसान के रूप में रुककर सरकार और आमजन के बीच की दूरी को कम करने का प्रयास किया।

सिरोही में लिया फीडबैक

इससे पहले दौरे की शुरुआत में पायलट के सामने प्रशासनिक मशीनरी में व्याप्त अनियमितता और अहंकार के कई मामले आए। जिले में उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियो की बैठक ली। जिला प्रमुख ने जल स्वावलंबन में डायवर्ट किए गए टीएफसी की राशि को दिलवाने की बात उनके सामने रखी। आवल से मावल तक की सडक़ बनाने के मुद्दे पर जब बात हुई तो सामने आया कि ये माइनिंग क्षेत्र है। इस पर पायलट ने इस सडक़ को डीएमएफसी के बजट से काम करवाने की बात की तो जिला प्रमुख पायल परसरामपुरिया ने उनसे बताया कि इस बजट पर राज्य सरकार ने जनवरी से ही रोक लगा दी जिससे कई काम अधूरे रह गए हैं। पायलट का बैठक में मुख्य चर्चा का बिंदु शहरी और ग्रामीण पेयजल वितरण व्यवस्था दुरुस्त करने और अकाल के हालात में ग्रामीण रोजगार रहा। इस दौरान मनरेगा में फर्जी नामों के शामिल होने की बात सामने आने पर उन्होंने जिला कलेक्टर को इसकी जांच के निर्देश दिए।

सिरोही एमएलए संयम लोढ़ा ने गुलाबगंज-माउंट आबू मार्ग बनवाने को लेकर कार्य किए जाने की आवश्यकता बताई, इसके लिए पायलट ने साथ में आए वन मंत्री से इस मुद्दे को दिखवाने की बात कही। रेवदर एमएलए जगसीराम कोली ने मंडार-रेवदर के बीच से निकलने वाले हाईवे के कारण होने वाली समस्या बताते हुए बाईपास बनवाने की मांग की। आबू-पिंडवाड़ा विधायक समागम गरासिया ने आदिवासी क्षेत्र की समस्या को उनके समक्ष रखा। आबू-पिंडवाड़ा विधायक समागम गरासिया ने माउंट आबू उपखंड अधिकारी और रेवदर एमएलए जगसीराम कोली से रेवदर मंडार के सर्कल एक थानेदार के रवैये के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई। इसे लेकर पायलट ने तीनों विधायकों के साथ अलग से बैठक की। रेवदर एमएलए जगसीराम कोली ने थानेदार की कार्यप्रणाली पर सचिन पायलट से हुई विशेष बैठक में आपत्ति दर्ज करवाई। उन्होंने आरोप लगाया कि वे भी जनप्रतिनिधियों के प्रति सामान्य व्यवहार नहीं रखते। पायलट के सामने उन्होंने आरोप लगाया कि मंडार से महाराष्ट्र में टैंकरों में भरकर बजरी निकल रही है।

पायलट ने दोनों विधायकों की बात सुनकर इस पर उचित करवाई का आश्वासन दिया। सिरोही विधायक संयम लोढ़ा ने बताया कि ग्राम सेवक पट्टा बुक अपने साथ ले जाते हैं उसे ग्राम पंचायत में जमा नहीं करवाते। उन्होंने आरोप लगाया कि बाद में सरपंचों के हस्ताक्षर करवाकर भ्रष्टाचार करते हैं। ऐसेमें पट्टा बुक जमा नहीं करवाने वाले ग्राम सचिवों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जाए। लोढ़ा ने जल स्वावलंबन के कामों में हुए भ्रष्टाचार की जांच करवाने की बात रखी।