बक्से में बंद होकर गंगा में उतरा मशहूर जादूगर, और हो गया कांड

0
78

जादूगर चंचल लाहिरी। -फाइल

कोलकाता के एक मशहूर जादूगर चंचल लाहिड़ी उर्फ जादूगर मंद्रक अपना जादू दिखाने के लिए लोहे की जंजीर से हाथ-पैर बांधकर नदी में उतरने के बाद गायब हो गए हैं। मिली जानकारी के मुताबिक मशहूर जादूगर चंचल लाहिड़ी रविवार को हाथ-पार बांधकर और खुद को बक्से में बंद कर हावड़ा ब्रिज से हुगली नदी में उतरे थे। जादूगर का दावा था कि कुछ ही सेकंड के अंदर वो अपनी जंजीर और बक्से के ताले खोलकर बाहर आ जाएंगे लेकिन काफी देर हो गयी और वो बाहर नहीं आए।

जब जादूगर लाहिड़ी काफी देर तक  बाहर नहीं आया तो वहा पर मौजूद दर्शकों ने इस बात की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस के मुताबिक, जादूगर की पहचान चंचल लाहिरी (41 साल) के तौर पर हुई है। आपदा प्रबंधन विभाग गंगा में उसकी तलाश कर रहा है। इस घटना की जानकारी देते हुए कलेक्टर सैयद वकार रजा ने बताया कि जादूगर चंचल ने क्रेन की मदद से नदी में डुबकी लगाई थी। वह दर्शकों को दिखाना चाह रहा था कि नदी के अंदर जादू से अपने हाथ-पैर खोल लेगा और बाहर आ जाएगा। हालांकि, ऐसा नहीं हो सका।

चंचल दो बार ऐसा जादू दिखा चुका था
जादूगर चंचल पश्चिम बंगाल के सोनारपुर शहर का रहने वाला था। पहले भी वह दो बार ऐसा जादू दिखा चुका था। 2013 में जादू दिखाते वक्त मौत के मुंह में जाने से बाल-बाल बचा था। पुलिस सूत्रों की मानें तो चंचल ने गंगा में जादू दिखाने के लिए पुलिस-प्रशासन से अनुमति ली थी। इसके बावजूद वहां सुरक्षा के कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए गए।

प्रशंसकों को अनहोनी की आशंका
चंचल लाहिड़ी पहले जरूर कई तरह के करतब दिखाते रहे हैं लेकिन इस दफा उनके चाहने वाले और परिवार के लोग किसी अनहोनी की आशंका से डरे हुए हैं। लाहिड़ी के प्रशंसक कह रहे हैं कि अगर जादू का उनका दांव ठीक रहता तो वो निश्चित ही बाहर आ जाते। बताया जा रहा है कि नदी में उतरने से पहले चंचल ने भी इसे एक मुश्किल जादू बताया था।