सेहत

प्लास्टिक के कटोरे में तब्दील हो गए लड़की के आधे अंग, ये केस देख डॉक्टर्स भी दंग

दुनिया में तरह -तरह की बीमारियाँ फ़ैल रहीं हैं। कुछ बीमारियाँ तो ऐसी हैं जिनके बारे में डॉक्टर भी कुछ नहीं बोल पा रहे हैं। ऐसा ही कुछ इस लड़की के साथ भी है। जिसका आधा अंग ही प्लास्टिक का कटोरा है। नाइजीरिया के कानो की रहने वाली इस लड़की का नाम रेहमा हारुन है। यह लडकी पैदा तो अन्य सामान्य लड़कियों की तरह हुई थी लेकिन कुदरत ने उनके साथ ऐसा किया की उनकी जिन्दगी नर्क बन गई। अब वह एक प्लास्टिक के कटोरे में ही रहने को मजबूर है।

रेहमा का सपना है कि एक दिन वह खुद की दुकान खोलेगी। जब रेहमा 6 महीने की थी तब उसे बुखार आना शुरू हुआ और फिर पेट में दर्द होने लगा और फिर हाथ और पैरों में भी दर्द उठने लगा। इसके बाद उसके अंगों का विकास रूक गया। लगातार दर्द से जूझती रेहमा एक प्लास्टिक के कटोरे में रहने को मजबूर है।

रेहमा का परिवार उसे प्लास्टिक के एक कटोरे में उसे बैठाकर पूरे गांव में घुमाते हैं ताकि वह अपनी जिंदगी जी सके। रेहमा कहती हैं कि उसको जो भी जीवन में चाहिए था वह सब उसके परिवार ने दे दिया है।

रेहमा का भाई भी हैं जो उसको बहुत चाहता है। वह उसको नहलाता है और बाहर घुमाने के लिए ले जाता है। रेहमा के पिता हुसैनी कहते हैं कि वह रेहमा की बीमारी पर अब तक 2 लाख 60 हजार से ज्यादा रूपए खर्च कर चुके हैं और वे लगातार 15 सालों से इस बीमारी का इलाज खोज रहें हैं लिकिन अभी तक उनको कोई फायदा नहीं हुआ हैं।

Back to top button