देश

बुरी खबर : गैस सिलेंडर के बाद अब रेल टिकट की सब्सिडी पर है सरकार की नज़र !

सोई गैस सिलेंडर पर सब्सिडी छोड़ने के लिए मोदी सरकार द्वारा पिछले कार्यकाल में GIVE IT UP अभियान चलाने के बाद अब सरकार की नज़र रेलवे टिकिट पर मिलने वाली सब्सिडी पर है. सरकार की मंशा है कि गैस सब्सिडी की तरह रेलवे टिकिट पर मिलने वाली सब्सिडी छोड़ें. जल्द ही सरकार इसके लिए एक अभियान शुरू करने जा रही है.

खबर है कि सरकार ने रेल टिकिट पर सब्सिडी के GIVE IT UP के लिए पूरा खाका तैयार कर लिया है और इसे जल्द ही अमल में लाया जायेगा. रेलवे के 100 दिन के एजेंडे में ज़ोर देकर कहा गया है कि भारतीय रेल मुसाफिरों को किराये पर 47 फ़ीसदी सब्सिडी देती है. अब रेल टिकट खरीदने के पहले ही मुसाफिरों से सामने दो तरह के विकल्प रखेगा जिसमें आप सब्सिडी के साथ टिकट ख़रीदना चाहते हैं तो एक विकल्प चुनें और यदि आपको टिकट पर सब्सिडी चाहिए तो आप दूसरा विकल्प चुनें.

रेलवे ने अपने 100 दिन के एजेंडे में साफ किया है कि उसे 2568 ROB/RUB बनाने की मंजूरी 31 अगस्त 2019 तक लेनी है और साल 2024 तक ये सारे निर्माण पूरे करने हैं. रेलवे इस काम पर होने वाला पूरा खर्च स्वयं उठाएगा और राज्य सरकारों से खर्चे की मद में कोई वित्तीय हिस्सेदारी नहीं लेगा.

सूत्रों ने कहा कि रसोई गैस पर सब्सिडी छोड़ने की अपील वाले सरकारी अभियान की तरह ही रेल टिकिट पर सब्सिडी छोड़ने का अभियान शुरू होगा. इसके लिए यात्रियों को विज्ञापनों के ज़रिये सब्सिडी छोड़ने के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा. माना जा रहा है कि रेलवे 31 अगस्त 2019 तक अपने इस अभियान की शुरुआत कर देगा. इसके तहत रेलवे स्टेशनों, टीवी चैनलों, अखबारों और सोशल मीडिया पर एक बड़ा अभियान शुरू होगा.

इससे पहले तत्कालीन रेल मंत्री सुरेश प्रभु के रेल मंत्री रहते रेलवे ने सब्सिडी छोड़ने के लिए ‘GIVE IT UP’ अभियान चलाने की योजना बनाई थी लेकिन उन्हें बाद में इस योजना को ठंडे बस्ते में डालना पड़ा था.

Back to top button