ख़बरदेश

मोदी के एक्शन पर कटोरा लेकर निकले इमरान, अमेरिका बोला- गलती से भी ये गलती न करे पाक

जम्मू-कश्मीर को विशेष अधिकार देने वाली धारा 370 और 35 A हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान में बौखलाहट देखी जा रही है. पाक संसद में एक-दूसरे को गालियां दी जा रही हैं. पाकिस्तान की अवाम भारत का विरोध कर रही है. पाकिस्तान ने भारतीय उच्चायुक्त को वापस भेज दिया है. पाक के मंत्री फवाद चौधरी ने जंग की चुनौती दी है. व्यापारिक रिश्ते तोड़ दिए गए हैं. इन सभी हथकंडों के बाद पाक पीएम इमरान खान दुनियाभर में मदद के लिए गिड़गिड़ा रहे हैं. लेकिन इस मामले पर कोई भी देश पाकिस्तान की मदद के लिए आगे नहीं आ रहा है.

पाकिस्तान की संसद से लेकर देश तक में कश्मीर पर भारत के रुख से बेचैनी है. ऐसे में पाकिस्तान पूरी दुनिया में मदद की गुहार लगा रहा है.पाकिस्तान की इस गुहार पर अमेरिका ने पाकिस्तान को हिदायत दी है कि पाकिस्तान भारत के खिलाफ कोई आक्रमक रुख न अपनाए. अमेरिका ने साफ कहा है कि अगर पाकिस्तान भारत पर हमला करने की भूल करता है तो इसके परिणाम पाकिस्तान के लिए घातक होंगे.

अमेरिका ने पाकिस्तान से कहा है कि वहां अपनी जमीन को इस्तेमाल भारत के खिलाफ आतंकी गतिविधियों के लिए न करे. आतंकियों को पनाह न दें. पाकिस्तान की ओर से भारतीय सीमाओं में किसी भी प्रकार की घुसैपठ नहीं होना चाहिए. अमेरिका ने हिदायत देते हुए कहा है कि पाकिस्तान को आतंकवाद को जड़ से खत्म करना होगा और आतंकी ठिकानों पर कड़ा एक्शन लेना होगा.

बता दें कि धारा 370 के मसले पर भारत ने अपना रुख साफ कर दिया है. भारत कश्मीर पर लिए गए एक्शन को वैश्विक मंच पर खींचना नहीं चाहता है. इस मामले पर भारत ने दो टूक कहा है कि यह हमारा आंतरिक मामला है, जिसके संबंध में कानून का हक भारत सरकार को है. भारत, कश्मीर पर बनाई गई किसी भी नीति में बाहरी हस्तक्षेप को नहीं मानेगा.

 

Back to top button