वीडियो: जब अफसर हैं दिल से मेहरबान तो कैसे रुकेंगे अवैध निर्माण?

यूपी की योगी सरकार ने अवैध कब्जो को हटाने की कोशिश कर रही है, लेकिन सरकारी अधिकारी ही इन कोशिशों को पलीता लगा रहे हैं. शाहजहांपुर की खुटार नगर पंचायत मे प्रशासनिक कर्मचारी और अधिकारी सरकारी भूमि पर कब्जा करवाकर उसपर अवैध रूप से बन रही दुकानों को नजरंदाज कर रहे थे. इस मामले को गंभीरता से लेते हुये प्रशासन ने अधिशासी अधिकारी समेत 21 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है, इस कारवाई से लोग सकते मे आ गए हैं.

देखिये वीडियो

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के आते ही अवैध कब्जों पर कार्रवाई शुरू हो गई है. अब शाहजहांपुर की खुटार नगर पंचायत में प्रशासन ने अवैध कब्जों के खिलाफ कमर कस ली है. खुटार के मुख्य चौराहे पर ही अवैध निर्माण चल रहा था इस मामले में प्रशासन ने 21 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

बताया जा रहा है कि एक साल पहले भी प्रशासन ने इसी चौराहे पर अवैध निर्माण रुकवाया था लेकिन 15 दिन पहले ही एक भट्टा मालिक ने फिर से निर्माण शुरू कर दिया. मामला संज्ञान में आते ही नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी के खिलाफ भी मामला दर्ज कर लिया है. प्रशासन अभी और लोगों के खिलाफ जांच कर कारवाई का मन बना रही है.

मामले में अधिशासी अभियंता का कहना है कि वो सिर्फ एक महीने में रिटायर हो रहे हैं ऐसे में पूरा मामला रंजिशन कार्रवाई का है. उनका ये भी कहना है कि कुछ दिनों पहले ही उनकी ड्यूटी स्कूलों में लगी है ऐसे में यह मामला उनके अधीन है ही नहीं

उत्तर प्रदेश में भूमाफिया की जड़ें काफी गहरी हैं. और इसका एक प्रमाण ये पूरा मामला है जिसमें सरकारी अधिकारी ही सरकारी जमीन पर अवैध निर्माण को नजर अंदाज कर रहे हैं. लेकिन सवाल ये भी हैं कि आखिर प्रशासन 15 दिन तक क्यों सोता रहा. सवाल ये भी है कि क्या प्रशासन की ये कार्रवाई किसी छोर पहुंचेगी या फिर इसे भी ठंडे बस्ते में डाल दिया जाएगा.