Breaking News
Home / ख़बर / देश / अब राजनीति में IIT छात्रों में मारी इंट्री, लड़ेंगे लोकसभा चुनाव…

अब राजनीति में IIT छात्रों में मारी इंट्री, लड़ेंगे लोकसभा चुनाव…

Bahujan Azad Party

आगामी लोक सभा चुनाव के पहले सियासी माहौल गरमा गया है. सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपनी कमर कस ली है. हाल में ही सपा-बासप गठबंधन के बाद यूपी में भाजपा के लिए एक बड़ी परेशानियो का दौर शुरू हो गया है. इस बीच कांग्रेस ने भी तीन राज्यों में जीत के बाद अब यूपी में आगमी लोक सभा में जीत हासिल करने के लिए अपनी बहन प्रियंका पर दांव लगाया है. इस बीच एक बड़ी खबर ने सियासत को गरमा दिया है.  बताते चले  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) के छात्र इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के बाद बड़ी-बड़ी कंपनियों में करोड़ों रुपए का पैकेज हासिल करते हैं। सर्च इंजन गूगल के सीईओ सुंदर पिचई ने आईआईटी खड़गपुर से इंजीनियरिंग की है और वह करीब 3.52 करोड़ रुपए प्रति माह की कमाई करते हैं। लेकिन यहां हम बात कर रहे हैं आईआईटी के दिल्ली संस्थान की जहां के छात्रों का मकसद किसी कंपनी में जॉब करना नहीं है बल्कि वे देश के लिए कुछ करने की चाहत रखते हैं। देश सेवा की अपनी इस चाहत को पूरा करने के लिए इन छात्रों ने अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत की है।

मेधावी छात्रों ने आगामी लोकसभा चुनावों के लिए अपनी राजनीतिक पार्टी बनाई है

इन मेधावी छात्रों ने आगामी लोकसभा चुनावों के लिए अपनी राजनीतिक पार्टी बनाई है। इन छात्रों की पार्टी का नाम है ‘बहुजन आजाद पार्टी’। चुनाव आयोग की तरफ से इस पार्टी को चुनाव चिन्ह भी मिल गया है। समाचार पत्र ‘जनसत्ता’ की रिपोर्ट के मुताबिक आईआईटी दिल्ली से टेक्सटाइल में ग्रेजुएट ‘नवीन कुमार’ इस पार्टी का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

नवीन का कहना है कि अगर हमने इस देश में जन्म लिया है और इस देश से पढ़ाई की है, तो हमारा कर्तव्य है कि हम यहीं रह कर अपने देश के विकास में अपना योगदान दें। इन्हीं बातों को ध्यान में रखकर हमने इस दल का निर्माण किया है। समाज के कमजोर वर्ग को उनके अधिकार दिलाना, गरीबी, बेरोजगारी, शिक्षा, स्वास्थ्य इनकी पार्टी के मुख्य मुद्दे हैं।

चुनाव चिह्न मिलने से पहले नवीन ने कहा था, ‘हमारा 50 छात्रों का एक समूह है और इसमें शामिल छात्र अलग-अलग आईआईटी से हैं। देश सेवा के लिए इन छात्रों ने अपनी नौकरी छोड़ी है। हमने चुनाव चिह्न के लिए चुनाव आयोग के पास आवेदन दिया है और इस बीच हम जमीनी स्तर पर काम कर रहे हैं।’ हालांकि, समूह ने कहा था कि अभी उनका लक्ष्य 2019 का चुनाव लड़ना नहीं है।

कुमार ने आगे कहा, ‘चुनाव आयोग के पास रजिस्ट्रेशन हो जाने के बाद हम पार्टी की छोटी इकाइयों का गठन करेंगे। ये इकाइयां जमीनी स्तर पर काम करेंगी। हम किसी विचारधारा अथवा राजनीतिक पार्टी के विरोधी के तौर पर नहीं दिखना चाहते।’

इस संगठन में ज्यादातर छात्र अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग से हैं। इनका मानना है कि शिक्षा और रोजगार के क्षेत्र में इन समुदायों को उनका वाजिब हक अभी तक नहीं मिला है। छात्र संगठन के पोस्टर में बीआर अंबेडकर, सुभाष चंद्र बोस, एपीजे अब्दुल कलाम सहित अन्य बड़ी हस्तियों को जगह दी गई है। पार्टी ने अपना सोशल मीडिया अभियान पहले ही शुरू कर दिया है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com