कैसे शुरु हुआ बंगाल में बवाल, असली वजह जानने के लिए देखें ये Video

0
11

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान आज शाम पथराव हो गया। आरोप है कि यह पथराव तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने किया है।  इसे लेकर भारतीय जनता पार्टी और सत्तारूढ़ तृणमूल के लोगों में जमकर मारपीट और हिंसा की घटना हुई है। यह भी आरोप है कि पुलिस ने तृणमूल कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर भाजपा कार्यकर्ताओं पर जमकर लाठियां चटकाई हैं। लाठीचार्ज में कम से कम 10 भाजपा कार्यकर्ता घायल हुए हैं। हालात की भयावहता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि विद्यासागर कॉलेज के पास जहां यह घटना हुई, वहां दो मोटरसाइकिलों में बीच सड़क पर उस समय आग लगा दी गई, जब सड़क के दोनों ओर बड़ी संख्या में लोग अमित शाह की रोड शो में शामिल हुए थे। समाचार लिखे जाने तक पूरे इलाके में तनाव की स्थिति बनी हुई है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पश्चिम बंगाल के कोलकाता में मंगलवार (14 मई, 2019) को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) चीफ अमित शाह के शोडशो के दौरान हिंसा भड़क उठी। नतीजतन कार्यक्रम को उसके बाद खत्म करना पड़ा। पर टीएमसी छात्र परिषद और बीजेपी कार्यकर्ताओं में इस भिड़ंत की शुरुआत हुई कैसे? घटना से जुड़े वीडियो से पता लगता है कि वहां एक डंडा पटके जाने के बाद अचानक से पत्थरबाजी शुरू हो गई, जिसके बाद नौबत आगजनी और तोड़फोड़ तक आ पहुंची। बीजेपी चीफ ने इस हंगामे और हिंसा को लेकर सीएम ममता बनर्जी और उनकी टीएमसी के गुंडों पर आरोप लगाया है।

समाचार एजेंसी द्वारा जारी किए हिंसा से जुड़े पहले वीडियो के मुताबिक, रोडशो के दौरान भगवा और ‘नमो अगेन’ वाले कपड़ों में बीजेपी समर्थक सड़क के पास जमा थे। अचानक वहां कुछ लोग आए और डंडे पटकने लगे, जिसके बाद बीजेपी समर्थक एक पल के लिए तो हैरान रह गए। आनन-फानन में उन्होंने भी वहां पड़े ईंट-पत्थर उठाकर दूसरे पक्ष पर फेंकना शुरू कर दिया। हालांकि, इस क्लिप में यह साफ नहीं हो सका कि वे किस पर हमला कर रहे थे।

देखें, वीडियोः

 बताया गया है कि सबसे पहले विद्यासागर कॉलेज के अंदर से अमित शाह का रोड शो गुजरने के दौरान पत्थर फेंके गए। इसके बाद भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पथराव के बाद कथित तौर पर विद्यासागर कॉलेज में घुसकर तोड़फोड़ की है। इस बारे में अमित शाह ने कहा है कि ममता बनर्जी के इशारे पर उनकी रैली में हमले हुए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें रोड शो के जरिए स्वामी विवेकानंद के घर तक जाने की अनुमति थी लेकिन कोलकाता पुलिस ने जबर्दस्ती विवेकानंद के घर से पहले ही रोड शो रोक दिया। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी जिस तानाशाही तरीके से अराजकता का माहौल बनाने की कोशिश कर रही हैं, इसका जवाब जनता वोटिंग के जरिए देगी।  बताया गया है कि पथराव में भारतीय जनता पार्टी के कई कार्यकर्ता घायल हुए हैं। हालांकि अमित शाह पूरी तरह सुरक्षित हैं लेकिन पुलिस लाठीचार्ज में भी 10 से अधिक कार्यकर्ताओं को गंभीर चोटें आई हैं।