उत्तर प्रदेश

ये है यूपी के खाकीवालो का हाल, खून से लथपथ बहन को थाने लेकर पहुंचा भाई तो…

खून से लथपथ भाई-बहन ने मदद के लिए पुलिस को बुलाया, तो सिपाही बोला- 'थाने में जाकर पहले FIR कराओ'

० पीडि़तो के चौकी पहुंचने के बाद पुलिस ने किया वापस, सिपाही लाइन हाजिर

लखनऊ। दिल को दहला देने वाला मामला लखनऊ के बीकेटी  इलाके में दिखायी दिया। यहां जानलेवा हमला कर भाई और बहन को जान से मारने का प्रयास किया गया जिसमे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गये। हिम्मत कर भाई अपनी बहन को लेकर पुलिस चौकी पहुंचा लेकिन पुलिस ने उसे वहां से टरका दिया।  खून से लथपथ भाई बहन का पुलिस से गुहार करता वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। जिसमे  पुलिस कर्मी साफ  कहता सुनाई पड़ रहा है कि जाओ थाने में रिपोर्ट लिखाओ।

वीडियो में भाई कहता सुनाई दे रहा है कि क्या हमारी यहां कोई सुनवाई नहीं होगी सर तो पुलिसवाले की तरफ से जवाब मिला कि यहां तुम्हारा मेडिकल हो जाएगा। फिर जब भाई कह रहा है कि हमारी रिपोर्ट लिखो तो पुलिस वाला कहता सुनाई पड़ रहा है कि रिपोर्ट तो लिखकर लानी पड़ेगी। मामला कप्तान तक पहुुंचने के बाद उन्होंने  त्वरित संज्ञान लेते हुए कार्रवाई की है। मामला सोशल मीडिया पर वायरल हो जाने के बाद प्रकरण में  आरोपियों के खिलाफ  गंभीर धाराओं में केस दर्ज किया गया है। और सिपाही को लाइन हाजिर कर दिया।

जानकारी के मुताबिक़

मामला इटौजा थाना क्षेत्र के नरौसा गांव का है जहाँ मामूली कहासुनी के बाद लोग एक दूसरे के जान के प्यासे हो गए। वहीं एक ही समुदाय के दो पक्ष के बच्चों में हुई कहासुनी के बाद उग्र हो गए और जमकर लाठी डंडे चलाये जिससे कि एक पक्ष के भाई बहन गंभीर रूप से घायल हो गए। भाई बहन का ज्यादा खून बहने से हालात गंभीर हो गई। वहीं पुलिस चाहे जितने बेहतर पुलिसिंग के दावे कर ले लेकिन उन दावों की पोल खुलने में समय नही लगता है। इस सम्बन्ध में एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कार्रवाई करते हुए महिगवां चौकी पर तैनात बागपत जिला के 2016 बैच के कांस्टेबल राहुल को अमानवीय तरीके से पेश आने पर लाइन हाजिर कर दिया। वहीं सभी अधीनस्थों को घायलों से संवेदनीय भावनाओं से पेश आने को कहा गया है। चौकी प्रभारी व थाना प्रभारी को पुलिसकर्मियों को सही तरीके से ब्रीफ  ना करने के चलते विभागीय कार्रवाई की गई है। सोशल मीडिया पर खबर वायरल होने के बाद हरकत में आई पुलिस ने इस पूरे मामले में चार अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

 
घटना के वक्त ग्रामीणों ने बंद किये घर के खिड़की दरवाजे 
जानकारी के अनुसार, इटौजा थाना क्षेत्र के नरौसा गांव में उस वक्त लोगों ने अपने घर के खिड़की दरवाजे बंद कर लिए जिस वक्त एक ही समुदाय के दो पक्ष मामूली विवाद में लाठियां खड़काने लगे। लाठी डंडों की आवाज सुनकर आस-पास के लोगों में दहशत का माहौल बन गया और लोगों ने अपने घर के दरवाजे से बाहर  निकलना मुनासिब नहीं समझा। दो पक्षों में हुए विवाद मद एक पक्ष के भाई बहन गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना पर पहुंची 100 नम्बर पुलिस ने देखा कि दोनों भाई बहन खून से लतपत है फिर भी अस्पताल ले जाने के बजाय नसीहत देते रहे जिससे घायल खून से लतपत भाई बहन की हालात गंभीर होती रही। कभी खून बहजाने के बाद घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनका इलाज किया गया। पुलिस ने इस मामले में अभियुक्त में यूनुस, इस्लाम, शकील और उस्मान निवासी नारौसा को महगवां मोड़ से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

Back to top button