कश्मीर के नक्शे में Google ने किया जो खेल, वो नाकाबिल-ए-बर्दाश्त

0
357

गूगल ने अपनी मैप सर्विस में दुनिया भर के देशों की सीमाओं को नए तरीके से डिजाइन किया है. जिस देश में आप मैप देख रहे हैं, उसी के हिसाब से आपको मैप दिखाई देगा. दरअसल आए दिन गलत मैप के कारण आलोचनाएं झेलने के कारण गूगल ने अब ये व्यवस्था की है. अब ख्याल रखा जाएगा कि आप गूगल पर मैप आप किस जगह बैठकर देख रहे हैं. लेकिन इसको लेकर विवाद पैदा हो गया है.

हुआ यूं कि अगर आप भारत में बैठकर भारत और खासकर कश्मीर का नक्शा देख रहे हैं तो आपको पूरे जम्मू कश्मीर का नक्शा दिखाई देगा, लेकिन जैसे ही आप दुनिया के किसी और मुल्क में बैठकर मैप देखेंगे तो आपको पूरा कश्मीर ही विवादित दिखाई देगा. अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट की एक रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है.

अखबरा की रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी प्रवक्ता का कहना है, Google के पास उन विवादित क्षेत्रों को दिखाने के लिए एक सुसंगत और वैश्विक नीति है, जो विवादित या दावा करने वाले राष्ट्रों द्वारा किया जाता है. इसका अर्थ ये कतई नहीं है कि हम किसी का पक्ष ले रहे हैं. कई चीजों को स्थानीय डोमेन के लिए स्थानीयकृत किया गया है.

गूगल की प्रवक्‍ता का कहना है, हम अपने उपयोगकर्ताओं को सबसे समृद्ध, सबसे अपडेट और सटीक मानचित्र उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध हैं. हम बॉर्डर को उपलब्‍ध डेटा के आधार पर अपडेट करते हैं. हम ये जानकारी अधिकृत रूप से जिम्‍मेदार स्रोत से लेते हैं.

रिपोर्ट के अनुसार, अर्जेंटीना से लेकर यूनाइटेड किंगडम और यूके से ईरान तक, दुनिया की सीमाएं अलग-अलग दिखती हैं. यह इस पर निर्भर करता है कि आप उन्हें कहाँ से देख रहे हैं. ऐसा इसलिए है क्योंकि Google और अन्य ऑनलाइन मानचित्रकार उन्हें बदलते हैं.” Google का कॉर्पोरेट मिशन “दुनिया की जानकारी को व्यवस्थित करने के लिए” है.