Breaking News
Home / जिंदगी / जरा हट के / लड़की ने पीठ पर लिखवाया कुछ ऐसा, पलट-पलट कर देखते ही रह गए लोग !

लड़की ने पीठ पर लिखवाया कुछ ऐसा, पलट-पलट कर देखते ही रह गए लोग !

हमारा देश अपनी संस्‍कृति और सथ्‍यता के लिए ही पहचाना जाता है इसलिए तो भले कितना भी ये देश विकसित हो जाए लेकिन अपनी पहचान अपनी संस्‍कृति से भ‍लीभांति अवगत रहेगा। हम सभी ये तो जानते ही है कि हमारी भारतीय संस्‍कृति में विविध इकाईयों को एकसाथ कर दर्शाने का प्रयास किया गया है। भारतीय संस्कृति विश्व की सर्वाधिक प्राचीन एवं समृद्ध संस्कृति है। अन्य देशों की संस्कृतियाँ तो समय की धारा के साथ-साथ नष्ट होती रही हैं, किन्तु भारत की संस्कृति आदि काल से ही अपने परम्परागत अस्तित्व के साथ अजर-अमर बनी हुई है।

इसकी उदारता तथा समन्यवादी गुणों ने अन्य संस्कृतियों को समाहित तो किया है, किन्तु अपने अस्तित्व के मूल को सुरक्षित रखा है। तभी तो पाश्चात्य विद्वान् अपने देश की संस्कृति को समझने हेतु भारतीय संस्कृति को पहले समझने का परामर्श देते हैं। देश के हर एक प्रदेश की कला और संस्कृति का उन्नयन एवं विकास करने तथा उसके विविध पक्षों का संरक्षण एवं संवर्धन करने के लिए समय- समय पर योजनाओं को क्रियान्वित कर रहा है।

हर राज्‍य अपनी संस्‍कृति को दर्शाने के लिए कई तरह के आयोजन करते हैं जिसमें यूपी के वाराणसी में स्थित बीएचयू भी शामिल है जहां के आईआईटी विभाग अपनी संस्‍कृति को दर्शाने के लिए हर साल कल्‍चर इवेंट की शुरूआत करते हैं जिसका नाम है ‘काशी यात्रा’। इस इवेंट के शुरूआत होने से कैम्‍पस में स्‍टूडेंट्स पर अलग ही रंग छा जाता है वहीं कई अलग अलग कॉलेजों से छात्राएं भी इस इवेंट में भाग लेने के लिए सम्‍मलित होती हैं।

इसी दौरान एक बार इस कार्यक्रम में कुछ ऐसा दिखा जो कि आकर्षण का केंद्र बन गया और इसकी चर्चा हर तरफ होने लगी। दरअसल इस कार्यक्रम में सनबीम कॉलेज से बीकॉम की छात्राएं आई थी जिनमें सृष्टि आकर्षण का केंद्र बन गई। जी हां दरअसल सृष्टि ने इस प्रोग्राम में अपने पीठ पर महादेव नाम से टैटू ही बनवा लिया था जिसके बाद हर तरफ उनके चर्चे होने लगे थें। जब लोगों ने सृष्टि से इसके बारे में पूछा तो उनका जवाब सुनकर सब हैरान ही हो गए।

आपको बता दें कि सृष्टि ने कहा कि ”मैं काशी को रिप्रेजेंट कर रही हूं और ये नगरी महादेव की है। हर कोई उनको आत्मसात करता है, इसलिए पीठ पर महादेव लिखवाया है। शिव को अर्धनारीश्वर भी कहते हैं इसलिये माथे पर त्रिपुण्ड भी उनके जैसा ही लगाया है। इतना ही नहीं इस इंवेंट में एक कक्षा 10 की लड़की ने अपने लहंगे पर राम का नाम लिखवाया था। उसने बताया, बनारस के लकड़ी के खिलौने भारत में मशहूर हैं पर अब ये कला खत्म हो रहा है इसलिये लहंगे पर ही राम नाम लिखवाया है, क्‍योंकि काशी धार्मिक नगरी है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com