एक और बाबा की खुली पोल, आश्रम में साध्वियों को बंधक बनाकर किया जा रहा था दुष्कर्म

नवादा। बिहार के नवादा जिले के गोविंदपुर थाने के बहियारा मोड़ के निकट अवस्थित संत कुटीर आश्रम में तीन साध्वियों से साधु के वेश में रह रहे पांच लोगों ने बलात्कार किया। किसी तरह भागकर निकली साध्वियों ने ग्रामीणों से बात की, तब 4 जनवरी को प्राथमिकी दर्ज कराई गई। घटना 12 दिसम्बर 2017 की ही है। इस मामले में पांच लोगों को नामजद किया गया।

Advertisement

पीड़ित साध्वी जब मेडिकल जांच के लिए बृहस्पतिवार को अस्पताल पहुंची, तब इसकी भनक मीडियाकर्मियों को लगी, जिसके बाद मामला सार्वजनिक हुआ। पीड़ित साध्वियों में से एक गया जिले की जबकि दो उत्तर प्रदेश की निवासी हैं।

advt

 

एक पीड़िता ने बताया कि 12 दिसम्बर की रात वे सभी मिलकर भोजन बना रही थीं, तभी यूपी के महुआडीह जिले के चापा गांव के दिलचन्द पटेल और बस्ती जिले के सेलरा के कल्पनाथ चौधरी ने शस्त्र का भय दिखाकर उन्हें एक कमरे में ले गया, जहां बस्ती के सेलरा निवासी गिरिजा शंकर चौधरी, श्याम चौधरी और अजित चौधरी ने उनके साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया।

एक महीने से बंधक बनाकर रखा गया था

शर्मनाक घटना को अंजाम देने के बाद आरोपितों ने तीनों साध्वियों को आश्रम में ही बंधक बनाये रखा। इस बीच, 4 जनवरी को गांव वालों के सहयोग से पुलिस को घटना की सूचना दी गई। तब कहीं जाकर प्राथमिकी दर्ज की गई। ग्रामीणों के दबाव से ही पुलिस ने बृहस्पतिवार को तीनों साध्वियों को मेडिकल जांच के लिए सदर अस्पताल नवादा लाया।

वहां तीनों ने अपने साथ हुई शर्मनाक घटना की जानकारी देने के साथ-साथ गोविन्दपुर के थानाध्यक्ष रवि पासवान पर सूचना दिये जाने के बावजूद कार्रवाई नहीं करने का आरोप भी लगाया।