सेहत

इस गंभीर बीमारी से ग्रसित लोगों के लिए रामबाण है ये औषधि, घर बैठे करे ये उपाय

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हर कोई चाहता है वह चुस्त-दुरुस्त रहें लेकिन अफसोस कि उसे समय नहीं मिल पाता है। आज के समय मे व्यक्ति पैसा कमाने में इतना मशगुल हो चुका है कि वह अपने खाने-पीने के से लेकर स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं दे पाता है। इस लापरवाही के कारण कब शरीर में कौन सी बीमारी घर कर जाती है। इसका पता भी नहीं चल पाता है और कब यह गंभीर रूप ले लेती हैं इस बात की भी जानकारी नहीं हो पाती है आज हम आपको एक ऐसी समस्या के बारे में बताने वाले हैं जिस से आधे से ज्यादा लोग परेशान रहते हैं।

हमारे जीवनशैली में ऐसे कई सारी बातें हैं, जिसे हम अनदेखा कर देते हैं और यही चीजें धीरे धीरे बिमारियों का रूप धारण कर लेती है। इसलिए आज हम आपको एक विशेष रोग के बारे में बताने जा रहे हैं जो कि एक खतरनाक बिमारी है। दरअसल हम आपको पीलिया के बारे में बताने जा रहे हैं, पीलिया पाचनतंत्र के लिए बहुत खतरनाक बीमारी है। ऐसा भी कहा जाता हैं कि पांचन तंत्र का कमजोर होना भी पीलिया रोग का कारण है। आपको बता दें कि रोगाणुओं के फैलने से कई तरह की बीमारियां होने का खतरा रहता है, इन्हीं में से एक बीमारी है, जॉन्डिस, जिसे हम पीलिया के नाम से जानते हैं।

इस बीमारी में व्यक्ति की त्वचा से लेकर आंखें, नाखून, पेशाब का रंग पीला हो जाता है, साथ ही लीवर कमजोर होकर ठीक से काम करना बंद कर देता है। सबसे पहले तो आपको ये बता दें कि पीलिया में खुजली बहुत तीव्र हो सकती है और मरीजों को अनिद्रा हो सकती है, अत्यधिक खरोंच हो सकती है और चरम मामलों में अधिक परेशानी हो सकती है।

इतना ही नहीं रोगी की भूख धीरे-धीरे कम हो जाती है और जी मचलाने की शि‍कायत होती है। पीलिया से पीड़ित व्यक्ति की आंखे पीली हो जाती है, नाखून में पीलापन आ जाता है, पेशाब पीला आना संकेत है। आज हम आपको कुछ घरेलू उपायों के बारें में बताने जा रहे है। आज हम आपको इस बिमारी में सेवन किए जाने वाले कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जो बेहद ही ज्यादा फायदेमंद है, और जिसके द्वारा आप जल्द ही पीलिया से निजात पा सकते हैै जी हां तो आइए जानते हैं

अरण्डी के पत्तों का रस: सबसे पहले बात करते हैं अरंडी के पत्तों के रस की, जो कि पीलिया पीड़ित व्यक्ति के लिए बेहद ही ज्यादा फायदेमंद होते है। जी हां दरअसल आपको बता दें कि अरण्डी के एक दो पत्तों का रस निकालकर कच्चे दूध में मिलकार पीने से भी पीलिया रोग से जल्द ही आराम मिलता है। अरण्डी के पत्तों को आयर्वेद में इस बीमारी के लिए रामबाण औषधि के रूप में जाना जाता है।

गन्ने का जूस : वहीं बात करते हैं गन्ने का जूस की तो ये भी पीलिया से पीड़ित व्यक्ति के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है। दरअसल आपको बता दें कि गन्ने में कई प्रकार के पौष्टिक तत्व पाएं जाते है जो शरीर में पहुंचने के बाद अपना काम करना शुरू करते है।

चने की दाल का प्रयोग : इन सभी चीजों के अलावा पीलिया पीड़ित व्यक्तियों के लिए चने की दाल भी काफी लाभदायक होती है। इतना ही नहीं ये भी बता दें कि अगर आप इसे रात को सोने से पहले थोड़ी सी दाल को पानी में भिगो दे। उसके बाद सुबह उठकर उस दाल में से पानी को अलग कर दें और उस भिगी दाल के साथ गुड़ मिलाकर खाएं। अगर आप कुछ दिनों तक लगातार इसको खाओंगे तो आपको जल्द ही पीलिया से राहत मिलेगा। इन चीजों के सेवन से पीलिया पीड़ित व्यक्ति जल्द ही सही हो सकता है।

Back to top button